24 JULWEDNESDAY2024 1:26:27 PM
Life Style

6 या 7 कब मनाई जाएगी कृष्ण जन्माष्टमी? नोट कर लें पूजा विधि और मुहूर्त

  • Edited By palak,
  • Updated: 31 Aug, 2023 04:03 PM
6 या 7 कब मनाई जाएगी कृष्ण जन्माष्टमी? नोट कर लें पूजा विधि और मुहूर्त

भाद्रपद महीने की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को हर साल कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार धूमधाम से मनाया जाता है। जन्माष्टमी श्रीकृष्ण के जन्मदिवस के रुप में मनाई जाती है। पूरे देश में श्रीकृष्ण के भक्तों का त्योहार के लिए अलग ही लगाव दिखता है हर कोई कान्हा के रंग में रंगा हुआ दिखता है। जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण के बाल स्वरुप की पूजा की जाती है। इस बार कृष्ण जन्माष्टमी कब है और इस दिन श्रीकृष्ण की पूजा कैसे कर सकते हैं आज आपको इसके बारे में बताएंगे। तो चलिए जानते हैं...

किस दिन मनाई जाएगी जन्माष्टमी?

इस साल कृष्ण जन्माष्टमी 6 सितंबर को मनाई जाएगी। जन्माष्टमी के दिन कुछ लोग व्रत रखकर रात को 12 बजे के बाद कृष्ण जन्मोत्सव के बाद व्रत पारण करके पूजा अर्चना की जाती है। माना जाता है कि इस दिन पूजा पाठ करने से शुभ फल मिलता है। 

PunjabKesari

पूजा का शुभ मुहूर्त 

कृष्ण पक्ष अष्टमी की तिथि 6 सितंबर दोपहर 03:37 पर शुरु होगी और 7 सितंबर शाम 04:14 मिनट पर खत्म होगी। इसके अनुसार, पूजा का शुभ मुहूर्त बुधवार रात 11:57 मिनट से लेकर 12:42 तक का है। व्रत का पारण 07 सितंबर 06:02 मिनट या फिर शाम 04:14 मिनट पर कर सकते हैं।

कैसे करें श्रीकृष्ण की पूजा? 

इस दिन सुबह घर के मंदिर में श्रीकृष्ण या फिर ठाकुर जी की मूर्ति स्थापित करें। मूर्ति को पहले गंगा जल के साथ स्नान करवाएं। इसके बाद दूध, दही, घी, शक्कर, शहद और केसर के पंचामृत से स्नान करवाएं। इसके बाद मूर्ति को शुद्ध जल से स्नान करवाएं। राज 12 बजे के बाद लड्डू गोपाल की पूजा करके आरती उतारें।

PunjabKesari

जन्माष्टमी का महत्व 

मान्यताओं के अनुसार, जन्माष्टमी के दिन व्रत रखने से सारी इच्छाएं पूरी होती है। इस दिन विधि-विधान के साथ श्रीकृष्ण की पूजा करने से सुख-समृद्धि का आशीर्वाद मिलता है जो पति-पत्नी संतान प्राप्ति की चाह रखते हैं उन्हें जन्माष्टमी के दिन लड्डू गोपाल की उपासना जरुर करनी चाहिए। श्रीकृष्ण को माखन, दही, दूध, खीर, मिश्री और पंजीरी का भोग लाएं इससे श्रीकृष्ण भक्तों की मनोकामना जरुर पूरी करते हैं।   

PunjabKesari

Related News