25 JULTHURSDAY2024 4:03:04 PM
Nari

हड्डियों की मजबूती से लेकर खून की कमी को पूरा करता है गोंद कतीरा, इस तरह कैसे करें सेवन

  • Edited By Manpreet Kaur,
  • Updated: 08 Jun, 2024 02:16 PM
हड्डियों की मजबूती से लेकर खून की कमी को पूरा करता है गोंद कतीरा, इस तरह कैसे करें सेवन

नारी डेस्क: गर्मियों में गोंद कतीरा खाना हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है, ये तो आप सभी जानते ही होंगे। दरअसल, इसकी तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका सेवन गर्मियों में करना बेहद लाभकारी माना जाता है। आपको बता दें कि गोंद कतीरा पेड़ से निकलने वाला एक पीले रंग का गोंद है। यह छूने में चिपचिपा, बदबूदार और बेस्‍वाद होता है। इसके सेवन मात्र से ही कब्ज, स्तन में वृद्धि, त्वचा रोग, शीघ्रपतन और हृदय रोग का खतरा तक कम हो जाता है। सिर्फ यही नहीं बल्कि दूध में मिलाकर गोंद कतीरा पिने से सेहत को ऐसे फायदे होते हैं जिसे जान आप आज से ही इसका सेवन करना शुरू कर देंगे। तो चलिए आइये यहां जानें इसके कुछ खास लाभ-

खून की कमी 

दूध में गोंद कतीरा डालकर पीने से शरीर में हो रही खून की कमी से छुटकारा मिलता है और साथ ही यह हीमोग्लोबिन के स्तर को भी बढ़ाने में मदद करता है। 

PunjabKesari

हड्डियों को मजबूत करे 

दूध में गोंद कतीरा डालकर पीना बहुत लाभदायक साबित हो सकता है। इसके सेवन से हड्डियों को मजबूत रहने में मदद मिलेगी और साथ ही शरीर भी एक दम स्वस्थ रहेगा। 

दूर करे कमजोरी

गोंद कतीरा में ढेर सारा प्रोटीन और फॉलिक एसिड पाया जाता है। इसके सेवन से शरीर को तुरंत ताकत मिलती है। इसे खाने से खून गाढ़ा होता है। 20 ग्राम गोंद कतीरा को एक गिलास पानी या फिर दूध में भिगो कर रखें और फिर सुबह मिश्री मिलाकर शर्बत बनाकर पिएं।

 ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए फायदेमंद 

दूध में गोंद कतीरा डालकर पीना ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए बहुत लाभदायक साबित होता है। यह बढ़ रहे ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार साबित होता है। 

PunjabKesari

मासिक धर्म करे नियमित

यदि किसी महिला के मासिक धर्म अनियमित हैं तो गोंद कतीरा और मिश्री को साथ में पीस कर 2 चम्‍मच दूध में मिला कर सेवन करें। इसके अलावा गोंद के लड्डू भी बना कर खाए जा सकते हैं। यही नहीं बच्‍चा होने के बाद भी गोंद के लड्डू खाने पर कमजोरी और माहवारी की गड़बड़ी भी ठीक हो जाती है।

​टान्सिल में राहत

यदि आप हर वक्‍त टॉन्‍सिल से परेशान रहते हैं तो 2 भाग कतीरा और 2 भाग नानख्वा को बारीक पीस लें। फिर इसमें हरी धनिया की पत्‍ती का रस मिलाएं और रोजाना इसे गले पर लेप करें। इससे आपको जल्‍द ही आराम मिलेगा। यही नहीं अगर आपके पास साधन न हो तो लगभग 10 से 20 ग्राम गोंद कतीरा पानी में भिगोकर फुला लें और फिर इसे मिश्री मिले शर्बत में मिलाकर सुबह-शाम पिएं।

PunjabKesari

मुंह के छाले के लिए गोंद कतीरा

अल्सर के कारण होने वाली सूजन, लालिमा और दर्द को कम करने के लिए इस उपाय को आजमाएं: गोंड कतीरा का बारीक पिसा हुआ पेस्ट बनाएं और तुरंत राहत के लिए अपने छालों पर लगाएं।

Related News