12 APRMONDAY2021 3:41:44 PM
Nari

मेघायल का मुख्य आकर्षण है 'जीवित जड़ सेतु', खासियत कर देगी हैरान

  • Edited By neetu,
  • Updated: 25 Feb, 2021 02:50 PM
मेघायल का मुख्य आकर्षण है 'जीवित जड़ सेतु', खासियत कर देगी हैरान

भारत अपनी खूबसूरत से विदेश का मुकाबला करने में माहिर है। यहां के हरे-भरे बाग, जंगल, झरने, प्राकृतिक दृश्य किसी का भी ध्यान अपनी ओर खिंचने का काम करते हैं। ऐसे में ही एक आकर्षित जगह चेरापूंजी, मेघालय में स्थित है। असल में, यहां पर “डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज” है जो जीवित जड़ सेतु के नाम से दुनियाभर में फेमस है। तो आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से...

PunjabKesari

ब्रिज का इतिहास

इस खूबसूरत व अनोखे ब्रिज को देखकर हर कोई हैरान रह जाता है। बात इसके इतिहास की करें तो यह वहां के स्थानीय जनजाति की देन है। असल में, भारतीय रबड़ ट्री की मजबूत जड़ें बढ़ कर गांव में लटकती थी। ऐसे में लोगों ने इसे सीधा करते हुए पेड़ को पुल का आकार दे दिया। मगर करीब 15 साल बाद यह पुल लोगों का वजन झेलने वाला बना। यह सुंदर व आकर्षित ब्रिज मेघालय की उमशियांग नदी के ऊपर बना है। यह करीब 50 मीटर लंबा और 1.5 मीटर चौड़ा है। माना जाता है कि 200 से 500 साल पुराना है। 

PunjabKesari

सिर्फ पेड़ों की जड़ों से किया तैयार 

यह पुल डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज नाम से दुनियाभर में मशहूर है। बात इसके मतलब की करें तो इसका अर्थ है पुल में 2 डेक या परतें होना। यह पुल एक के ऊपर एक बना है। इसे जड़ों के उलझाव के कारण बनाया गया है। इस पुल की खासियत है कि इसे किसी भी धातु का इस्तेमाल किए बिना सिर्फ पेड़ों की जड़ों से बनाया गया है। इसपर एक समय पर करीब 50 लोग चढ़ सकते हैं। मगर शारीरिक रूप से कमजोर लोगों को इसपर चलने में मुश्किल आ सकती है। 

PunjabKesari

लिविंग रूट ब्रिज पर पहुंचने का तरीका

यह पुल तिर्ना गांव से शुरू होकर उमशियांग नदी के ऊपर से बना है। यहां तक पहुंचने के लिए लोगों को पहाड़ी से 3500-3600 सीढ़ी नीचे उतरनी पड़ती है। इस में करीब 3-4 घंटे का समय लगता है। ब्रिज पर ट्रेकिंग का मजा लेने वाले लोगों को इस दौरान कई छोटे-छोटे ब्रिज देखेन को मिलेंगे। मगर इन पुलों को बनाने में धातु की तार इस्तेमाल करके मजबूत बनाया गया है। 

PunjabKesari

डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज की यात्रा से पहले ध्यान में रखें ये बातें

- अपने साथ अधिक सामान ना लें। 
- यात्रा में आपको खाने से जुड़ी समस्या नहीं होगी तो इसे घर से ले जाने से बचें।
- डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज पर चलना हर किसी की बात नहीं। ऐसे में रोमांच व एडवेंचर के शौकीन इस ब्रिज पर घूमने का मजा लें। 
- इस ब्रिज तक पहुंचने के लिए पहाड़ी रास्ते पर चलना पड़ेगा। ऐसे में यात्रा से पहले खूब पानी पीएं। साथ ही आराम दायक जूते पहने। 

PunjabKesari

ब्रिज के पास रुकने की जगह

आपको पुल के आसपास बजट में रहने के लिए गेस्ट हाउल मिल जाएंगे। भले ही यहां पर सुविधाएं कम होगी। मगर आपको खाने-पीने की कोई कमी नहीं होगी। 

PunjabKesari

Related News