30 OCTFRIDAY2020 12:56:40 PM
Nari

मलमास पूर्णिमा पर मां लक्ष्मी को चढ़ाए यह चीज, तरक्की के खुलेंगे रास्ते

  • Edited By neetu,
  • Updated: 01 Oct, 2020 10:03 AM
मलमास पूर्णिमा पर मां लक्ष्मी को चढ़ाए यह चीज, तरक्की के खुलेंगे रास्ते

अधिक व मलमास का महीना भगवान विष्णु जी को बेहद प्रिय माना जाता है। आज 1 अक्तूबर को मलमास की पूर्णिमा का दिन है। यह दिन आश्विन अधिकमास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस बार यह शुभ संयोग आज से करीब 165 साल बाद आया है। ज्योतिषशास्त्र व वास्तु के अनुसार, इस शुभ दिन में कुछ उपायों को करने से देवी लक्ष्मी और भगवान श्रीहरि की असीम कृपा मिलती है। तो आइए जानते हैं उन उपायों के बारे में...

विष्णु सहस्रनाम का करें पाठ

अधिक या मलमास को श्रीहरि का अधिक प्रिय होने से इस पूर्णिमा को विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु जी की असीम कृपा मिलती है। इसके साथ ही आर्थिक परेशानियां दूर हो धन का आगमन होता है। 

nari,PunjabKesari

इन चीजों का करें दान 

मान्यता है कि इस पूरे महीने में ही दान करना बेहद शुभ होता है। मगर पूर्णिमा के दिन किसी गरीब व जरूरतमंद को कपड़े और अन्न का दान करने से भी जीवन में चल रही सभी परेशानियों का हल हो खुशियों का आगमन होता है। घर के सदस्यों में चल रहा तनाव दूर हो आपसी रिश्ते मजबूत होते हैं। धन की देवी लक्ष्मी की कृपा होने से पैसों से जुड़ी परेशानियों का हल होता है। 

देवी लक्ष्मी को चढ़ाए यह चीज 

मलमास की पूर्णिमा में मं लक्ष्मी को उनका प्रिय कमल का फूल चढ़ाए। उसके साथ ही सुबह व शाम के समय घी का दीपक जलाकर देवी मां की पूजा कर आरती करें। इससे कारोबार व व्यापार में लाभ होने के साथ तरक्की के रास्ते खुलते हैं।

nari,PunjabKesari

प्रसाद में रखें लौंग

देवी लक्ष्मी के प्रसाद में कुछ लौंग भी जरूर रखें। माता की पूजा करने के बाद उस लौंग को खाएं। साथ ही उनमें से 1 लौंग को अपने पर्स में रखें। इससे कर्ज से जुड़ी परेशानी दूर होने के साथ आय के नए स्त्रोत भी बनेंगे

लक्ष्मी स्तोत्र या कनक धारा स्तोत्र का करें पाठ 

पुराणों के अनुसार, मलमास की पूर्णिमा के दिन लक्ष्मी या कनक धारा स्तोत्र का पाठ करने से दुश्मनों से छुटकारा मिलता है। साथ ही घर का माहौल शांतिमय बनता है।

सुहागन स्त्रियों को दें सुहाग का सामान

इस शुभ दिन पर सुहागिन महिलाओं को सुहाग का सामान देना चाहिए। माना जाता है कि इससे सौभाग्य की प्राप्ति होती है। पति- पत्नी के रिश्ते में मजबूती आने के साथ वैवाहिक जीवन सुखमय बीतता है। 

nari,PunjabKesari
 

Related News