25 MAYSATURDAY2024 3:18:44 PM
Nari

दर्जी के बेटी ने किया बाप का सीना गर्व से चौड़ा, बनीं जम्मू-कश्मीर की पहली महिला जज

  • Edited By Charanjeet Kaur,
  • Updated: 12 Apr, 2024 04:21 PM
दर्जी के बेटी ने किया बाप का सीना गर्व से चौड़ा, बनीं  जम्मू-कश्मीर की पहली महिला जज

जम्मू - कश्मीर की बात हो तो हमेशा वहां के आंतक, अशांति और दांगों को लेकर मुद्दे गर्म रहता है। वहां के लोगों में काफी आक्रोश में रहते हैं और समाज में पुरुषों का ज्यादा दबदबा है। महिलाएं को यहां के माहौल के चलते पढ़ने भी नहीं भेजा जाता, लेकिन ऐसे में जम्मू- कश्मीर के राजौरी में दर्जी के बेटी ने कमाल कर दिखाया। भावना अब शायद कश्मीर की तस्वीर को बदले, क्योंकि उन्होंने समाज की बंदिशों को तोड़ते हुए जम्मू- कश्मीर न्यायिक सेवा परीक्षा को पास किया और जज बन गई हैं। 

PunjabKesari

कश्मीर में जज बनने वाली पहली महिला

आपको बता दें कि भावना केसर उस गांव से आती हैं जो एक समय में आतंकवादियों का गढ़ा हुआ करता था। राजौरी के छोटे से गांव नौशेरा की भावना के पिता दर्जी हैं, ऐसे में बेटी की इस उपल्ब्धि से उनके घर में खुशी का माहौल है। भावना ने अपनी पढ़ाई टीएमपी स्कूल नौशेरा की हैं। आगे की पढ़ाई के लिए वो चड़ीगढ़ चली गई थीं। पंजाब यूनिवर्सिटी से भावना ने बीए एलएलबी से पढ़ाई की। उसके बाद भावना ने एलएलम किया और पीएचडी की भी पढ़ाई जारी रखी।

PunjabKesari

भावना ने दी आज की लड़कियों को खास Advice

भावना ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उका सपना सच हो गया। वहीं उनके पैरेंट्स ने भी इस सफर में उसकी खूब मदद की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ करने दिखाने के लिए उनकी जैसी लड़कियों को अपने आस-पास की परवाह नहीं करनी चाहिए और लगातार अपने सपनों की तरफ बढ़ना चाहिए।

इंटरव्यू के 36 घंटे तक आया था रिजल्ट

जम्मू- कश्मीर न्यायिक सेवा परीक्षा में बेटियों का ही बोल-बाला रहा। श्रीनगर की तस्मीन काऊसा ने टॉप किया है। इसके अलावा दूसरे नंबर पर मुफ्ती, तीसरे नंबर पर सनाह बडियाल रहें।

Related News