05 DECSATURDAY2020 1:59:53 AM
Nari

डेंगू ने मचाया फिर कहर, बचे रहना चाहते हैं तो याद रखें ये रामबाण नुस्खे

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 03 Nov, 2020 03:54 PM
डेंगू ने मचाया फिर कहर, बचे रहना चाहते हैं तो याद रखें ये रामबाण नुस्खे

कोरोना के साथ-साथ देश में डेंगू बुखार ने भी कहर मचाना शुरू कर दिया है। डेंगू बुखार में प्लेटलेट्स व सेल्स काऊंट तेजी से कम होने लगते हैं। अगर वक्त पर सही इलाज हो तो हालात कंट्रोल में रहते हैं, नहीं तो यह बीमारी जानलेवा भी साबित हो सकती है। जितना मुश्किल डेंगू के संक्रमण से खुद को बचाए रखना है, उतना ही कठिन काम उससे पूरी तरह उबरना है। ऐसे में आज हम आपको डेंगू के लक्षण, कारण बचाव और कुछ घरेलू उपाय बताएंगे, जिससे इस बीमारी से बचा जा सकता है।

डेंगू कैसे और कब होता है ?

डेंगू बुखार 'एडीस' नाम के मादा मच्छर के काटने से होता है। इसमें व्यक्ति को 1 से 2 हफ्ते तक तेज बुखार रहता है। खास बात यह है कि ये मच्छर रात नहीं बल्कि दिन में काटते हैं और गंदी नाली के पानी की बजाए साफ पानी पर बैठते हैं। डेंगू फैलाने वाले एडीस मच्छर को पूरी तरह से खत्म करना संभव नहीं है क्योंकि यह गर्म माहौल में भी जिंदा रह सकते हैं। पानी के संपर्क में आते ही अंडा लार्वा में बदल जाता है और फिर अडल्ट मच्छर बन जाता है, जो बीमारियों का खतरा बनता है।

PunjabKesari

डेंगू के लक्षण (Dengue Symptoms in Hindi)

तेज बुखार व सिरदर्द
हाथों-पैरों में दर्द
भूख न लगना
जी मचलाना
उल्टी और दस्त
आंखों में दर्द
कमजोरी और थकावट
जोड़ों में दर्द
त्वचा पर लाल धब्बे पड़ना
नाक से खून आना

PunjabKesari

चलिए आप हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बताते हैं, जो प्लेटलेट्स व सेल्स काऊंट बढ़ातक डेंगू बुखार से उभारने में मदद करेंगे।

बकरी का दूध

बकरी के दूध में औषधीय गुणों की मात्रा भी बहुत होती है, जिससे डेंगू बुखार में जल्दी रिकवरी होती है। इतना ही नही, गाय का दूध पचने में 8 घंटे तो बकरी का दूध मात्र 20 मिनट में पच जाता है। यही कारण है कि इसका सेवन पाचन के लिए भी सही होता है।

PunjabKesari

नारियल पानी

डेंगू के बुखार से राहत पाने के लिए नारियल पानी खूब पिएं। इसमें मौजूद जरूरी पोषक तत्व जैसे मिनरल्स और एलेक्‍ट्रोलाइट्स शरीर को मजबूत बनाने में मदद करता है।

तुलसी

पानी में तुलसी की 10-12 पत्तियां और 2 ग्राम काली मिर्च उबालकर पीना भी फायदेमंद होती है। इसे ठंडा करके दिन में 4 से 5 बार पिएं। यह ड्रिंक आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाती है।

मेथी के पत्ते

मेथी के पत्ते को कुछ देर पानी में भिगोकर रख दें और फिर इसका सेवन करें। आप चाहे तो पानी में मेथी पाउडर भी मिला सकते हैं। इससे डेंगू बुखार दूर हो जाएगा।

गिलोय

गिलोय का आयुर्वेद में बहुत महत्व है। यह मेटाबॉलिक रेट बढ़ाने, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत रखने और बॉडी को इंफेक्शन से बचाने में मदद करती है। डेंगू में मरीज के ब्लड सैल्स कम होने लगते हैं। ऐसे में गिलोय रामबाण इलाज है। इसके तने को पानी में उबालें और पानी आधा होने तक उबालते रहे। आप इसमें तुलसी की पत्तियां भी मिला सकते हैं। इस पानी का नियमित सेवन करें तुरंत आराम मिलेगा।

PunjabKesari

चुकंदर और गाजर

1 गिलास गाजर के जूस में 3-4 चम्मच चुकंदर का रस मिलाकर मरीज को दें। इससे प्रतिरोधी क्षमता बढ़ती है, जिससे ब्लड सेल्स की मात्रा तेजी से बढ़ने लगती है।

लाल फल और सब्जियां

इस दौरान मरीज को लाल फल और सब्जियां जैसे- टमाटर, प्लम, तरबूज, चेरी आदि खाने को दें। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स की मात्रा भरपूर होती है, जिससे शरीर में ब्लड सेल्स की मात्रा तेजी से बढ़ने लगती है।

पीपते के पत्ते

पपीते के पत्तियों का रस सैल्स को तो बढ़ाते ही हैं साथ ही में बॉडी में दर्द, कमजोरी महसूस होना, उबकाई आना, थकान आदि को भी दूर करते हैं। आप इसकी पत्तियों को पीसकर भी ले सकते हैं और पत्तियों को पानी में उबाल कर ड्रिंक की तरह भी पी सकते हैं।

गोल्डनसील

नार्थ अमेरिका में पाए जाने वाले इस हर्ब का इस्तेमाल दवाई बनाने के लिए भी किया जाता है। यह नार्थ अमेरिका में पाया जाने वाला हर्ब है, जिसे दवाई बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।  इन्हें कूट के सीधे चबाकर या फिर जूस बनाकर पिएं। इससे आपको जल्द आराम मिलेगा।

हल्दी वाला दूध

सिर्फ घाव को जल्दी ठीक करने ही नहीं डेंगू के बुखार से तुरंत आराम दिलाने में भी हल्दी फायदेमंद है। गुनगुने दूध में आधा चम्मच हल्दी डालकर पीएं। 

PunjabKesari

बहुत से लोगों को नहीं पता कि डेंगू के मच्छर सुबह के समय काटते हैं। इतना नही नहीं, यह मच्छर गंदी नालियों में नहीं बल्कि साफ सुथरे पानी में पनपते हैं इसलिए साफ-सुथरे शहरी इलाकों में रहने वाले लोगों को इसका ज्यादा खतरा रहता है।

-घर के आस-पास साफ-सफाई रखें। साथ ही पीने वाले पानी को खुला न छोड़ें क्योंकि संक्रमित पानी पीने से भी यह बीमारी हो सकती है।
-रात में सोते समय ऐसे कपड़े पहनें जो शरीर के हर हिस्से को ढक सकें।
-मच्छरों से बचने के लिए क्रीम, स्प्रे और ऑयल लगा लें।
-ठंडा पानी न पीएं और बासी खाना खाने से भी परहेज करें। इसके अलावा पानी उबालकर या फिर फिल्टर करके पिएं।
-डेंगू मच्छरों को अंडे देने से रोकने के लिए घर में पानी जमा होने से रोकना चाहिए। साथ ही समय-समय पर कूलर, गमले और छतों आदि को साफ करें।
-बाहर रखे साफ पानी के बर्तनों जैसे पालतू जानवरों के पानी के बर्तन, बगीचों में पानी देने वाले बर्तन और पानी जमा करने वाले टैंक इत्यादि को साफ रखें।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News