04 JUNTHURSDAY2020 3:10:37 AM
Nari

क्रैश डाइट ले रहे हैं तो भूलकर भी ना करें ये 7 गलतियां

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 08 May, 2020 02:38 PM
क्रैश डाइट ले रहे हैं तो भूलकर भी ना करें ये 7 गलतियां

मोटापा कम व कंट्रोल में रखने के लिए लोग नए-नए डाइट प्लान को फॉलो करते हैं। वेट लूज के लिए वीगन (Vegan), कीटो (Keto) और इंटरमिटेंट फास्टिंग (Intermittent fasting) जैसी कई डाइट ट्रैंड में रहती है, उन्हीं में से एक है क्रैश डाइट। मगर, कई लोगों को शिकायत रहती है कि क्रैश डाइट लेने के बाद भी उनका वजन कम नहीं हो पाता। दरअसल, क्रैश डाइट लेते हुए आप ऐसी गलतियां कर देते हैं, जो वजन को कम नहीं होने देती।

क्या है क्रैश डाइट?

क्रैश डाइट में कैलोरी का सेवन कम किया जाता है, जिससे वजन कम होता है। इस डाइट में दिनभर फल और जूस ही शामिल होते है। आमतौर पर प्रत्येक व्यक्ति को 1200-1500 के बीच कैलोरीज लेनी चाहिए लेकिन क्रैश डाइट में सिर्फ 600-800 तक ही खाते है।

Thinking of Crash diets to cut belly fat? Think again! | Health ...

क्रैश डाइट लेने के बाद भी वजन कम नहीं होने देती ये गलतियां...

हर किसी को नहीं करती सूट

हर किसी के शरीर का सिस्टम अलग होता है। ऐसे में यह जरूरी नहीं कि यह लो-कैलोरी डाइट आपके लिए भी फायदेमंद साबित होती। इसलिए कोई भी डाइट लेने से पहले आपको डॉक्टर से भी संपर्क करना चाहिए।

इम्यून सिस्टम हो जाता है धीमा

दरअसल, इस डाइट में लो-कैलोरी फूड्स लेने होते हैं लेकिन एकदम लो-कैलोरी फूड्स लेने से नुकसान हो सकता है। वहीं इसकी वजह से मांसपेशियां कमजोर और इम्यून सिस्टम धीमी हो जाता है, जिसकी वजह से आप डाइल लेने के बावजूद भी वजन नहीं घटा पाते। ऐसे में अगर आप क्रैश डाइट लेना चाहते हैं तो धीरे-धीरे फॉलो करें।

Why You Should Never, Ever Go on a Crash Diet | The Healthy

जीरो कार्बोहाइड्रेट डाइट लेना

कई लोगों को लगता है कि कार्बोहाइड्रेट्स केवल मोटा बनाते हैं इसलिए वो जीरो कार्बोहाइड्रेट लेते हैं। लेकिन अगर कार्बोहाइड्रेट बिल्कुल भी नहीं लेंगे तो मोटापा कम होने की बजाए। हां, आप अनहैल्दी की बजाए हेल्दी कार्ब्स को डाइट में ले सकते हैं।

बार-बार डाइट बदलना

कई बार लोग इस डाइट को फॉलो करते वक्त बीच में ही पुरानी डाइट पर चले जाते हैं। उन्हें लगता है कि ऐसा करने से वो स्लिमर बने रहेंगे, जोकि गलत है।

मेटाबॉलिज्म को नुकसान

जब आप अचानक कैलोरी की मात्रा कम करते हैं तो शरीर तनावपूर्ण महसूस करने लगता है। इससे मेटाबॉलिज्म धीमी हो जाता है और शरीर में चर्बी बढ़ने लगती है। इसके अलावा अगर आपको हाइपोथायरायड हैं तो भी मोटापा घटाने में परेशानी हो सकती है।

Crash diet: benefits, risks, side-effects and dangers

डाइट में फैट को पूरी तरह बंद करना

ज्यादा फैट अच्छा नहीं है लेकिन इसे पूरी तरह से अवॉइड करना भी गलत है। इससे हॉर्मोनल सिस्टम बिगड़ जाता है और वजन घटाने में परेशानी होती है। रिफाइन्ड तेल, बटर का सेवन कम करें। इसकी बजाए गुड फैट जैसे देसी घी, नारियल तेल, बादाम, अखरोट का सेवन करें।

पर्याप्त नींद न लेना

आप चाहे कितना भी बेहतरीन डाइट प्लान क्यों न लें लेकिन अगर नींद नहीं लेंगे तो वजन कम नहीं होगा। हर किसी के लिए 7 से 8 घंटे की गहरी नींद लेना जरूरी है।

8 Apps For Insomnia That Can Help You Go To Sleep

Related News