26 AUGMONDAY2019 4:52:50 AM
Nari

बच्चों के लिए फायदेमंद है मेडिटेशन, इस तरह सिखाएं ध्यान लगाना

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 16 Mar, 2019 10:45 AM
बच्चों के लिए फायदेमंद है मेडिटेशन, इस तरह सिखाएं ध्यान लगाना

ध्यान यानी मेडिटेशन करना सभी के लिए फायदेमंद होता है। मेडिटेशन करने से मन को शांति मिलती है और शरीर और दिमाग दोनों को फायदा मिलता है। अगर आप बचपन से ही बच्चों में मेडिटेशन की आदत डालें, तो बच्चे पढ़ाई, खेलकूद हर क्षेत्र में आगे रहेंगे। मेडिटेशन से बच्चों की याददाश्त और कंसंट्रेशन दोनों तेज होती हैं। आमतौर पर लोग समझते हैं कि बच्चों के लिए मेडिटेशन मुश्किल होता है मगर ऐसा नहीं है। 4-5 साल की उम्र से बड़े बच्चे भी आसानी से मेडिटेशन कर सकते हैं। हम आपको बता रहे हैं कि बच्चों को किस तरह ध्यान करवाएं और इससे उन्हें क्या फायदे मिल सकते हैं-

 

बच्चों को कैसे करवाएं ध्यान

बच्चों को ध्यान की आदत डलवाने के लिए आपको खुद भी थोड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। बच्चा जब 3 से 4 साल का हो जाए और अच्छी तरह चलने लगे, तो उसे अपने साथ सुबह-सुबह पार्क में ले जाएं और पैदल चलवाएं। इससे बच्चे के फेफड़ों में शुद्ध ऑक्सीजन का संचार बढ़ेगा और नेचर के प्रति उसका लगाव बढ़ेगा। धीरे-धीरे जब बच्चा थोड़ा बड़ा हो जाए, तो पार्क में किसी साफ जगह पर उसके साथ चौकड़ी मारकर बैठ जाएं। इसके बाद बच्चे को आंखे बंद करने का निर्देश दें, साथ ही बच्चे को बताए की वह रिलैक्स होकर कमर सीधी करके बैठे और किसी भी चीज के बारे में कुछ ना सोचे। साथ ही बच्चों को धीरे-धीरे लंबी सांसे लेने के लिए कहें। आप चाहें तो शुरूआत में रिलैक्सेशन म्यूजिक भी लगा सकते हैं ताकि बच्चों का इधर उधर ध्या‍न ना भटके।

PunjabKesari

 

बच्चों को बताएं ध्यान के फायदे

बच्चों को समझाएं कि उनके दिमाग में लगातार जो विचार आ-जा रहे हैं उन्हें भूलने की कोशिश करें और अपना ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें ताकि वे मेडीटेशन का फायदा उठा सकें। उन्हें समझाएं कि ध्यान करने से उनका मस्तिष्क विकसित होगा और याद करने की क्षमता बढ़ेगी। ध्यान करने के बाद बच्चे से पूछें कि उसे कैसा लग रहा है। इन आदतों को डलवाने के बाद बच्चा स्वयं ही अपने स्वास्थ्य के प्रति गंभीर होने लगेगा और उसका विकास बेहतर होगा।

 

प्रेशर ना डालें

ध्यान से दिमाग शांत होता है इसलिए किसी प्रेशर में ध्यान नहीं किया जा सकता है। बच्चों को ध्यान करने की आदत डालें, न कि उनपर किसी तरह का प्रेशर डालें। शुरुआत में बच्चा किसी दिन मेडिटेशन करेगा और किसी दिन नहीं भी करेगा। ध्यान रखें अगर बच्चा सप्ताह में 2-3 दिन भी ध्यान कर लेता है, तो उसके लिए पर्याप्त है। जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होगा, वो रोजाना ध्यान करने की आदत खुद बना लेगा।

PunjabKesari

सही माहौल तैयार करें

बच्चों को जीवन के हर क्षेत्र में आगे बढ़ाने और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए सिर्फ ध्यान करना पर्याप्त नहीं है। इसके लिए आपको बच्चों को सही माहौल भी देना चाहिए। सही माहौल तैयार करना बच्चों के पालन-पोषण में एक बड़ी भूमिका निभाता है। बच्चे के लिए घर में ऐसा प्यार भरा माहौल बनाएं कि वो हमेशा खुश रहे और उसकी बुद्धि का बेहतर विकास हो सके। इसके लिए जरूरी है कि मां-बाप बच्चों के मामले में दुनिया को उनकी ही नजर से देखें। 

PunjabKesari

Related News

From The Web

ad