Twitter
You are hereNari

क्यों होते हैं Hormonal पिंपल्स, नैचुरल तरीकों से कैसे करें इलाज?

क्यों होते हैं Hormonal पिंपल्स, नैचुरल तरीकों से कैसे करें इलाज?
Views:- Tuesday, July 17, 2018-3:01 PM

हार्मोंनल एक्ने जो कि हार्मोंन के असंतुलन की वजह से निकलते हैं, जिसे सिस्टिक पिम्पल (cystic acne) भी कहा जाता है। यह महिला और पुरुष दोनों को ही हो सकते हैं लेकिन महिलाओं को इन कील-मुंहासों का सामना ज्यादातर पीरियड्स के दिनों में करना पड़ता है हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान, स्किन इंफैक्शन, पेट में गड़बड़ी, ब्लड व शरीर में अन्य किसी इंफैक्शन के चलते भी हार्मोंनल एक्ने निकलने शुरू हो जाते हैं।

 

यह पिंपल्स आम मुंहासों की तुलना में बड़े, खराब दिखने वाले और दर्द देने वाले होते हैं। इससे स्किन को नुकसान पहुंचता हैं और यह चेहरे पर भद्दे निशान भी छोड़ देते हैं। ज्यादातर यह मुंहासे टीनएज से लेकर जवानी तक की उम्र में ही निकलते हैं जबकि कई बार इंफैक्शन के चलते यह 40 पार भी वैसे ही बने रहते हैं। 

1. क्या आपका खानपान भी बढ़ाता है हार्मोंनल पिंपल?
आयुर्वेद की मानें तो हर बीमारी की शुरुआत पेट से होती हैं। वैसे तो हार्मोंनल एक्ने हार्मोंन्स की गड़बड़ी से होते हैं लेकिन भोजन से जुड़ी ख़राब आदतों के कारण यह बढ़ते जाते हैं। इसलिए इस दौरान आपका खान-पान सहीं होना बहुत जरूरी है। 

PunjabKesari
2. हार्मोनल पिम्पल को रोकने के लिए क्या खाएं?

फल, नट्स और हरी सब्जियां लेनी चाहिए। 
वसा में नारियल तेल और घी का इस्तेमाल करें।
मसालों में जीरा, लेमनग्रास, केसर, इलायची, सौंफ़ और पुदीना
लिक्विड में डाईफ्रूट और बादाम का दूध, नारियल का पानी, सौंफ़ और लीकोरिस चाय लें।

3. क्या नहीं खाना चाहिए?

 इस दौरान खट्टे फल जैसे अंगूर, इमली, आड़ू आदि ना लें।
 सब्जियां में  मिर्च, बैंगन, जैतून या ऑलिव, कच्चा प्याज, मूली, टमाटर, गाजर ना खाएं।
 मसाले: मिर्च, सरसों, सोंठ या सूखी अदरक, लौंग और लहसुन
 कॉफी, चाय, शराब का सेवन ना करें।

4. हार्मोंनल एक्ने दूर करने के कुछ होममेड ब्यूटी ट्रीटमेंट

ग्रीन टी, लेमन जूस, एवोकाडो पल्प, हल्दी पेस्ट, मुल्तानी मिट्टी, जोजोबा तेल और शहद व दालचीनी इन मुंहासों का ठीक करने में सबसे ज्यादा मददगार होते हैं।

PunjabKesari
इसके अलावा कुछ बातों का रखें ख्याल

1. दिन में दो बार फेसवॉश से अपने चेहरा जरूर धोएं और हर्बल फेसवॉश का इस्तेमाल करें। साबुन का इस्तेमाल ना करें।

2. ग्रीन टी का सेवन करें । यह उन लोगों के लिए बेहद कारगर है जिसकी स्किन जरूरत से ज्यादा ऑयली हैं आप टी ट्री ऑयल वाला फेसवॉश भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी पत्तियों को पानी में उबाल कर भी आप चेहरे पर अप्लाई कर सकते हैं। 

3. दालचीनी और शहद की गाढ़ी पेस्ट बनाकर स्किन पर अपलाई करें और 15 से 20 बाद इसे साफ करें। ऐसा दिन में एक बार जरूर करें। 

4. हल्दी में थोड़ा सा पानी मिक्स करके गाढ़ी पेस्ट बनाएं और मुंहासों से प्रभावित स्किन पर लगाएं। सूखने पर इसे धो लें।

PunjabKesari

5. एवोकाडो को अच्छे से पीस कर गुद्दा निकाल लें और इसे मुंहासों वाली जगह पर लगाएं। सूखने पर चेहरा धो लें। दिन में दो बार ऐसा करें।

6. मुल्तानी मिट्टी औऱ जोजोबा आयल का इस्तेमाल फेसमास्क की तरह करें। मुल्तानी मिट्टी आयली स्किन प्रॉब्लम को दूर करती है जबकि जोजोबा ऑयल में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो स्किन को इंफैक्शन से बचाते हैं। मुल्तानी मिट्टी में कुछ बूंदे तेल की डालें और इसे फेस मास्क की तरह अपलाई करें फिर देखें कुछ ही हफ्तों में आपकी स्किन बिलकुल साफ हो जाएगी। 
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by: