04 AUGTUESDAY2020 2:19:22 AM
Nari

शिवलिंग की पूजा में ध्यान में रखें ये नियम तभी मिलेगा शुभ फल

  • Edited By neetu,
  • Updated: 06 Jul, 2020 02:05 PM
शिवलिंग की पूजा में ध्यान में रखें ये नियम तभी मिलेगा शुभ फल

सावन के शुभ महीने में शिव जी की कृपा पाने के लोग व्रत रखने के साथ मंदिर में जाकर शिव जी पूजा करते है। अपनी मनोकामना को पूरा करने के लिए लोग शिवलिंग पर अलग- अलग चीजों को चढ़ाते है। मगर शास्त्रों को अनुसार ऐसी बहुत सी चीजें है जिसे शिवलिंग पर नहीं चढ़ाना चाहिए। ऐसे में आज हम आपको बताते है कि शिवलिंग की पूजा करने और उनकी कृपा पाने के लिए उन्हें किन चीजों को चढ़ाना चाहिए। साथ ही किन चीजों को चढ़ाने से बचना चाहिए। तो चलिए जानते है शिवलिंग की पूजा से जुड़े कुछ खास नियम...

nari

पंचामृत से स्नान

सबसे पहले शिवलिंग को दूध, दही, शहद, घी और गंगाजल मिलाकर तैयार पंचामृत से स्नान करवाना चाहिए। 

nari

भस्म

भगवान भोलेनाथ को भस्म अति प्रिय होने से शिवलिंग पर इससे 3 आड़ी ढंग से लकीरों से तिलक लगाना शुभ होता है। 

दूध, जल, तिल और बेलपत्र

अब दूध मिश्रित जल में थोड़े से काले तिल मिलाकर अर्पित करें। उसके बाद 3 पत्तियों वाले 3 बेलपत्र चढ़ाएं। 

nari

फूल

शिव पूजा में हमेशा कनेर, धतूरे, आक, चमेली और जूही के फूलों को चढ़ाना चाहिए।

प्रसाद

भगवान को प्रसाद के तौर पर खीर, फल, आटे का चूरमा आदि चढ़ाएं। साथ ही इस बात खास ध्यान रखें कि उनको अर्पित किया हुआ प्रसाद खुद नहीं खाना चाहिए। 

nari

प्रक्रिमा

यहां आपको बता दें शिवलिंग की कभी परिक्रमा नहीं ली जाती है। बल्कि हमेशा शिव मंदिर की परिक्रमा करने चाहिए और वो भी आधी। 

इन चीजों को चढ़ाने से बचें

 

हल्दी और सिंदुर

शिव जी की पूजा में हल्दी और सिंदुर चढ़ाना निषेध होता है। असल में ये चीजें सौभाग्य का प्रतीक होते है और भगवान शिव के वैरागी होने से उन्हें ये नहीं अर्पित करनी चाहिए।

nari

खंडित चावल

शिव जी को चावल अर्पित किए जाते है। मगर इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि कोई भी चावल खंडित यानि टूटा हुआ न हो। 

केतकी, केवड़ा और चंपा

धार्मिक ग्रंथ शिव पुराण के अनुसार शिव जी ने केतकी के फूलों का त्याग किया था। इसलिए इनकी पूजा में इन फूलों को शामिल नहीं करना चाहिए। इसके अलावा केवड़ा और चंपा के फूल शिव जी को नापसंद होने के कारण इन्हें भी शिवलिंग पर अर्पित करने की गलती न करें। 

Shiv Parivar,nari

इस बात का विशेष ध्यान दें कि भगवान शिव की पूजा करने से पहले उनकी अर्धांगिनी माता पार्वती की पूजा करें। 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News