19 OCTSATURDAY2019 7:26:32 AM
Nari

मछली खाने से ही मिलेंगे ये 8 फायदे लेकिन जान लें सही मात्रा

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 04 Jun, 2019 04:37 PM
मछली खाने से ही मिलेंगे ये 8 फायदे लेकिन जान लें सही मात्रा

मछली खाने की बात जब भी सामने आती है, तो इसके फायदे बस बालों और आंखों तक ही सीमित रह जाते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि मछली लो फैट होती है, साथ ही इसमें प्रोटीन और ओमेगा-3 भरपूर मात्रा में पाया जाता है। मछली खाने से शरीर को वो फायदे मिलते हैं, जो शायद ही किसी दूसरे खाद्य पदार्थ को खाने से मिलते हों। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं मछली खाने से शरीर को कौन-कौन से फायदे मिलते हैं।

क्या गर्मियों में खा सकते हैं मछली?

वैसे तो गर्मियों में भारी और मसालेदार नॉनवेज खाने से परहेज करना ही अच्‍छा है लेकिन मछली के साथ ऐसा नहीं है आप मछली का सेवन गर्मियों में भी आराम से कर सकते हैं लेकिन सीमित मात्रा में। गर्मियों में इसका सेवन एलर्जी के साथ अन्य हेल्थ प्रॉब्लम्स से भी बचाता है।

कितनी मात्रा में करें मछली का सेवन?

गर्मियों में आप 2 हफ्ते में 1 बार मछली का सेवन कर सकते हैं। इसकी तासीर गर्म होने के कारण गर्मियों में इसका कम मात्रा में सेवन करना चाहिए।

मछली खाने के फायदे

हार्ट के लिए फायदेमंद

मछली में ओमेगा -3 फैटी एसिड आपके दिल के लिए अच्छा होता है। डॉक्टरों की जांच के मुताबिक मछली में असंतृप्त वसा पाई जाती है, जिसे ओमेगा -3 फैटी एसिड कहा जाता है, इस एसिड के कारण हार्ट-्अटैक का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

डायबिटीज में करें फायदा

शुगर के मरीज न तो चिकन ज्यादा खा सकते हैं, न ही मीट। ऐसे में नॉनवेज खाने के शौकीन शुगर पेशेंटस के लिए फिश का सेवन एक बेहतरीन ऑपशन है। इसमें न तो फैट होती है न ही इससे शुगर लेवल में कोई फर्क पड़ता है।

मजबूत मसल्स

जीएच-प्रोटीन से भरपूर मछली मांसपेशियों को स्ट्रांग बनाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, साथ ही कार्बोहाइड्रेट और वसा युक्त फिश का सेवन दिन भर अपको ऊर्जा से भरा रखता है। जिनका शरीर दुबला-पतला है, अपना वजन बढ़ाने के लिए फिश से बेहतर उनके लिए और कोई अच्छा ऑपशन नहीं हैं, क्योंकि मछली में गुड फैट के अलावा और कोई फैट नहीं होती। 

PunjabKesari

स्ट्रांग दिमाग

जब मस्तिष्क स्ट्रांग बनाने वाले खाद्य पदार्थों का बात सामने आती है तो, वसायुक्त मछली अक्सर सूची में सबसे ऊपर होती है। मछली में सैल्मन, ट्राउट और सार्डिन शामिल हैं, जो ओमेगा -3 फैटी एसिड के सभी समृद्ध स्रोत हैं, जो आपके मस्तिष्क और तंत्रिका कोशिकाओं के निर्माण के लिए  आवश्यक हैं। 

आंखो के लिए

मछली ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होती है जो मोतियाबिंद, ड्राई आई सिंड्रोम और यहां तक कि मैक्यूलर डीजनरेशन से बचा सकती है। रुटीन में मछली का सेवन करने से आंखों पर कभी भी चशमा नहीं लगता है। 

दांतो के लिए

सैल्मन और अटलांटिक मैकेरल जैसी फैटी मछली विटामिन डी से भरपूर होती है। विटामिन डी मुंह के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है,यह पोषक तत्व आपको दांतों और मसूड़ों की बीमारी से बचाता है। मछली खाने वाले लोगों के दांत ज्यादातर सफेद और चमकदार होते हैं। 

PunjabKesari

स्किन के लिए

वसायुक्त मछली 'मैकेरल' और 'हेरिंग' स्वस्थ त्वचा के लिए उत्कृष्ट मानी जाती हैं। ओमेगा -3 फैटी एसिड त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण हैं। मछली में ओमेगा -3 वसा सूजन को कम करता है। 

कोलेस्ट्रोल लेवल

मछली में वसा न होने के कारण यह शरीर का कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ने नहीं देती। अगर आप पहले से ही इस बीमारी से पीड़ित हैं, तब भी मछली का सेवन कम मात्रा में कर सकते हैं।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News