17 SEPTUESDAY2019 12:24:16 PM
Nari

चाइल्ड एक्टर 'रतन कुमार' को अचानक से हुआ था लकवा,8 दिन कोमा के थे शिकार

  • Edited By shipra rana,
  • Updated: 06 Sep, 2019 03:09 PM
चाइल्ड एक्टर 'रतन कुमार' को अचानक से हुआ था लकवा,8 दिन कोमा के थे शिकार

कलाकार दो तरह के होते है एक जिन्हें बार-बार अपनी काबलियत को साबित करना पड़ता है और दूसरे जो पहली बार ही में सबका दिल जीत लेते है। ऐसे ही थे फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर चाइल्ड एक्टर 'रतन कुमार' जिनकी डायलॉग डिलीवरी हैरान करने वाली थी। वो इतनी सरलता से अपनी बात रखते थे कि कोई भी उनकी आवाज में खो जाता था। एक बार उन्हें कोई सुन ले तो जिंदगी भर नहीं भूलता था। मगर उनका यह कारवां कुछ समय के लिए ही था। चलिए आपको उनकी जिंदगी से अहम कुछ बातें बताते है।


PunjabKesari,Ratan Kumar, Nari

बटवारे के बाद,रतन ने परिवार के साथ भारत में ही रहना का फैसला किया। कुछ समय बाद,वो पाकिस्तान चले गए थे। 1959 में, 18 साल की उम्र में कुमार, बाल कलाकार से एक प्रमुख नायक के रूप में बदल गए, जब उन्होंने नागिन के लिए नीलो के साथ फिल्म में काम किया। उनके अनुसार, फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर गोल्डन जुबली पूरी की। कुमार ने साझा किया,'इस फिल्म ने ऑल टाइम रिकॉर्ड बिजनेस बनाया है।'

PunjabKesari,Ratan Kumar, Nari

उन्होंने जल्द ही शादी भी रचाई। उनकी एक बेटी हुई जो कम उम्र में ही गुजर गई। जिसका उनपर बहुत गहरा असर हुआ। इस चोट को वो संभाल न सके और उन्होंने इस इंडस्ट्री को अलविदा कह दिया। फिर उन्होंने कारपेट का व्यापार शुरू किया। इस सिलसिले में उनका यूरोप जाना लगा रहता था। आखिर में वो यूएस जा कर हमेशा के लिए बस गए।

PunjabKesari,Ratan Kumar, Nari

1996 में उनके फेफड़ों ने बिल्कुल ही काम करना बंद कर दिया। उस वक्त तो इलाज के बाद सब कुछ नार्मल सा  हो गया परंतु कुछ साल बाद  कुमार के फेफड़ों में कोई परेशानी आई और इस बार उनका बचना नामुमकिन लग रहा था। रतन कुमार लकवाग्रस्त हो गए और पूरे 8 दिन तक कोमा की हालत में रहें। इस बड़ी दुविधा से भी वो पार हो आएं।

PunjabKesari,Ratan Kumar, Nari

आखिर के वक्त उन्होंने अपने प्यारे से 7 पोते-पोतियों के साथ बिताए। वो हमेशा ऑक्सीजन पर ही रहते थे मगर खुश रहते थे। पिछले साल दिसंबर में वो सबको छोड़ कर भगवान् को प्यारे हो गए।

Related News