21 JANTHURSDAY2021 12:24:14 PM
Nari

क्या सचमुच पैरों में बिछिया पहनने से बढ़ती है फर्टिलिटी? जानिए एक्सपर्ट्स की राय

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 12 Jan, 2021 10:17 AM
क्या सचमुच पैरों में बिछिया पहनने से बढ़ती है फर्टिलिटी? जानिए एक्सपर्ट्स की राय

शादी के बाद भारतीय महिलाएं पैरों में चांदी की बिछियां जरूर पहनती हैं। मंगलसूत्र, सिंदूर के अलावा बिछिया को भी सुहाग की निशानी माना जाता है। वहीं इसे पहनने का एक तथ्य यह भी दिया जाता है कि इससे महिलाओं का मेंस्ट्रुअल साइकिल सही और फर्टिलिटी बूस्ट होती है। चलिए आपको बताते हैं कि इसपर क्या कहती है साइंस और बायोलॉजी...

महिलाएं क्‍यों पहनती हैं ब‍िछिया?

ब‍िछिया, महिलाओं के 16 श्रृंगारों में से एक है मान्यता है कि सोने और चांदी की बिछिया पहनने से आत्म कारक सूर्य और मन कारण चंद्रमा दोनों की कृपा बनी रहती है। शास्त्रों की मानें तो वैवाहित महिलाओं को दाए या बाएं पैर की दूसरी अंगुली में बिछिया पहननी चाहिए। वहीं, चांदी की पायल और बिछिया लक्ष्मी का वाहक होते हैं इसलिए इनका खोना शुभ संकेत नहीं होता।

PunjabKesari

बिछिया पहनने पर क्या है एक्सपर्ट की राय?

एक्सपर्ट के मुताबिक, शादी के बाद पहने जाने वाले हर गहने का संबंध महिलाओं की सेहत से जुड़ा है। वहीं, एक्सपर्ट के मुताबिक, पैरों की उंगलियों में अलग-अलग तरीके के नर्व्स और एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स होते हैं जो बिछिया पहनने से एक्टिवेट हो जाते हैं, जो कहीं ना कहीं सेहत को भी फायदा पहुंचाते हैं।

PunjabKesari

चलिए अब आपको बताते हैं बिछिया पहनने के फायदे...

1. अंगूठे के बाद वाली उंगली में बिछिया पहनने से कांटेक्ट से सायटिका नामक लंबर नर्व्स पर दवाब पड़ता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन और मेंस्ट्रुअल साइकिल सही रहता है।
2. चांदी की बिछिया नसों को कंडक्ट करती है जिससे बॉडी में मैग्नेटिक फील्ड बेहतर होती है। इससे बॉडी के नेचुरल फंक्शन सही तरीके से काम करते हैं और हार्मोनल हेल्थ भी सही रहती हैजो फर्टिलिटी को भी प्रभावित करता है।
3. वैसे तो अंगूठे के बाद की 3 उंगलियों में बिछिया पहनने की परंपरा है लेकिन आजकल लड़कियां अंगूठे के बाद की ही 2 उंगलियों में ही इसे पहनती हैं। अंगूठे के साथ वाली उंगली की नर्व सीधे यूट्रस से जुड़ा होता है, जिसपर दवाब पड़ने से पीरियड्स साइकिल रेगुलेट होता है। वहीं, इससे प्रेगनेंसी का पूरा प्रोसेस भी बेहतर होता है।
4. इसके अलावा तीसरी उंगली में बिछिया पहनने से पीरियड्स दर्द भी कम हो सकता है।
5. यह ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है, जिससे आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं।
6. बिछिया पहनने से बॉडी में मैग्नेटिक फील्ड भी बेहतर होती है जिससे हार्मोन्स प्रोडक्शन स्मूथ और रेगुलेट होते हैं।

PunjabKesari

पायल पहनना भी है सेहत के लिए फायदेमंद

एक्सपर्ट के मुताबिक, सिर्फ बिछिया ही नहीं बल्कि पायल का भी महिलाओं की फर्टिलिटी से खास जुड़ाव है। जहां पायल पहनी जाती है वहां यूट्रस (Uterus), फैलोपियन ट्यूब (Fallopian Tube), ओवरी (Ovary) के एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स होते हैं। ऐसे में पायल पहनने से नस दबते रहते हैं और एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स रेगुलेट हो जाते हैं। इससे आपकी सेहत पर अच्छा असर पड़ता है।

PunjabKesari

कुल मिलाकर देखा जाए तो महिलाओं के लिए बिछिया सिर्फ फैशन या शास्त्रों के हिसाब से ही नहीं बल्कि सेहत के नजरिए से भी फायदेमंद है। तो इस तरीके से महिलाओं के लिए बिछिया पहनना फायदेमंद है।
 

Related News