17 AUGSATURDAY2019 9:06:13 PM
Nari

आजादी के लिए क्यों चुना गया 15 अगस्त का ही दिन ?

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 14 Aug, 2019 05:06 PM
आजादी के लिए क्यों चुना गया 15 अगस्त का ही दिन ?

इस साल भारत अपना 73 वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है। स्वतंत्रता दिवस हर भारतीय के लिए बहुत ही खास होता है। इस दिन भारत में एक नए युग की शुरुआत हुई थी, जब मध्यकालीन व ब्रिटिश गुलामी की जंजीरों को तोड़ कर एक नए युग में कदम रखा था। आज के इस मौके पर हम आपको स्वतंत्रता दिवस से जुड़ी कुछ ऐसी बातें बताएंगे जो शायद ही आपको पता होंगी। 

1. लार्ड माउंटबेटन ने भारत की स्‍वतंत्रता के लिए 15 अगस्‍त का दिन इसलिए चुना क्‍योंकि वह इस दिन को अपने कार्यकाल के लिए सौभाग्‍यशाली मानते थे। वहीं 1947 में हुए शोध पत्र के अनुसार नेहरु जी ने 16 अगस्त को तिरंगा झंडा फहराया था क्योंकि ज्योतिषियों अनुसार 3 जून से 15 अगस्त की तिथियां अशुभ थी। 

PunjabKesari,Independence Day, 15 August, National Flag Nari

2. जब भारत 15 अगस्त 1947 में भारत की आजादी का जश्न मना रहा था तब आजादी में मुख्य भूमिका निभाने वाली हमारे राष्ट्रपिता इसमें शामिल नही थे। वह बंगाल के नोआखली में हिंदु व मुस्लिम के बीच हो रही सांप्रदायकि हिंसा को रोकने के लिए अनशन कर रहे थे। 
 
3. 14 अगस्त की मध्यरात्रि को जवाहर लाल नेहरू द्वारा दिए गए ऐतिहासिक भाषण 'ट्रिस्ट विद डेस्टनी' को पूरी दुनिया ने सुना था लेकिन महात्मा गांधी ने नही सुना था क्योंकि वह सोने चले गए। यह भाषण उन्होंने वायसराय लॉज से दिया था, जिसे आज राष्ट्रपति भवन कहा जाता है। 

PunjabKesari,Independence Day, 15 August,Pandit nehru, Nari

4. आजादी के समय भारत का कोई राष्ट्रगान नही था। वहीं रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा 1911 में लिखा गया 'जन-गण-मन' 1950 में राष्ट्रगान घोषित किया गया। उन्होंने बंगाली भाषा में यह कविता लिखी थी जिसके पांच छंद थे, तब राष्ट्रगान के तौर पर इसके पहले छंद को ही स्वीकृति मिली थी। 

5. भारत 15 अगस्त को आजाद जरूर हो गया लेकिन उस समय उसका अपना कोई राष्ट्रगान नहीं था। रवींद्रनाथ टैगोर ने 1911 में 'जन-गण-मन' लिखा था लेकिन इसे 1950 में ही राष्ट्रगान घोषित किया गया।
 
6. भारत के तिरंगे झंडे ने अपने 6 अलग अलग रुपो का सफर तय करते हुए 22 जुलाई 1947 को अपनी सवैधानिक पहचान पाई थी। तब इस राष्ट्रीय ध्वज का स्थान देते हुए चरखे की जगह सम्राट अशोक का धर्म चक्र बना दिया गया था। इस तरह से कांग्रेस पार्टी का तिरंगा स्वतंत्र भारत का राष्ट्र ध्वज बन गया था। 

7. आजादी के समय गोवा को भारत से अलग कर पुर्तगाली राज्य बना दिया गया था। 19 दिसंबर 1961 को भारतीय सेना ने गोवा पर विजय प्राप्त कर इसे फिर से भारत का हिस्सा बनाया।

PunjabKesari,Independence Day, 15 August,Goa, Nari

8. 14 अगस्त को पाकिस्तान व 15 अगस्त को भारत अलग होकर स्वतंत्र हो गए थे, लेकिन तब इनके बीच सीमा रेखा नही थी। रेडक्लिफ लाइन ने 17 अगस्त को सीमा रेखा की घोषणा की थी।

9. विश्व की प्रसिद्ध समाचार पत्रों में भी उस दिन भारत की ही खबरें छाई हुई थी। हिंदुस्तान टाइम्स की पहली खबर थी ‘इंडिया इंडिपेंडेंटः ब्रिटिश रूल्स एंडस।’

PunjabKesari,Independence Day, 15 August, Nari

10. भारत के आजाद होने की खबर पूरे देशवासियों को नही मिल पाई थी क्योंकि जब संचार के साधन बहुत ही कम होते थे।

 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad