23 OCTWEDNESDAY2019 12:30:59 AM
Nari

टीवी बन रहा है हार्ट अटैक की वजह, जानिए कैसे?

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 08 Jul, 2019 03:20 PM
टीवी बन रहा है हार्ट अटैक की वजह, जानिए कैसे?

घर और ऑफिस के काम से ब्रेक मिलने के बाद लोग ज्यादातर टीवी देखना पसंद करते हैं, खासकर घरेलू महिलाएं टीवी देखना ज्यादा पसंद करती हैं लेकिन लगातार एक ही जगह पर बैठकर घंटों टीवी देखना आपके स्वास्थ के लिए हानिकारक हो सकता है जी हां ऐसा हम नहीं बल्कि एक अध्य्यन में कहा गया है। 

 

लगातार एक जगह पर बैठ टीवी देखने से हार्ट अटैक का खतराः शोध

एक शोध के मुताबिक, काम के दौरान लंबे समय तक बैठना दिल के लिए उतना बुरा नहीं हो सकता है जितना कि टीवी देखते समय बैठना। अमेरिका के कोलंबिया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में किए गए इस अध्ययन में पाया गया कि आराम से बैठना यानि की टीवी देखने के दौरान हृदय रोग और मृत्यु के अधिक जोखिम से जुड़ा था।

PunjabKesari

बता दें कि शोधकर्ताओं ने लगभग 8.5 वर्षों तक 3,592 लोगों का अध्‍ययन किया। प्रतिभागियों ने बताया कि उन्होंने टीवी देखने और काम के दौरान आम तौर पर कितना समय बिताया और खाली समय में कितना समय व्यायाम में बिताया। 


कुछ बातों पर जरूर दें ध्यान

1. जिन लोगों ने टीवी देखने (दिन में चार या अधिक घंटे) में ज्यादा समय व्‍यतीत किया था, उनमें टीवी कम देखने (दो घंटे से कम) वालों की तुलना में हृदय संबंधी घटनाओं और मृत्यु का 50 प्रतिशत अधिक जोखिम पाया गया। 

2. वहीं जो लोग लगातार करने के लिए बैठे रहते थे उनके स्वास्थय जोखिम भी कम बैठने वालों से ज्यादा था।

PunjabKesari

हृदय रोग से बचाव करती है एक्सरसाइज

जर्नल ऑफ द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन में प्रकाशित शोध में यह भी पाया गया कि हल्की-फुल्की एक्सरसाइज के द्वारा लगातार बैठकर टेलीविजन देखने के हानिकारक प्रभावों को कम या समाप्त किया जा सकता है। लेखक केथ एम डियाज कहते हैं कि, 'हमारे निष्कर्षों से पता चलता है कि जब आप किसी काम से घर के बाहर अपना समय बिताते हैं तो यह दिल की सेहत के लिए अधिक महत्वपूर्ण हो सकता है।'

PunjabKesari
कैसे कर सकते हैं आप बचाव 

अगर आप लगातार टीवी देखते हैं तो सेहत के प्रति अलर्ट हो जाएं। साथ ही लगातार बैठने की बजाए बीच मेें फिजिकल एक्टिविटी में हिस्सा लें। जैसे तेज चलना, एरोबिक व्यायाम आदि। इससे दिल के दौर का खतरा कम होता है।

अध्ययन के अनुसार, दिल का दौरा, स्ट्रोक या मृत्यु का कोई भी खतरा उन लोगों में नहीं देखा गया जो दिन में 4 या अधिक घंटे टीवी देखते थे लेकिन साथ ही  सप्ताह में 150 मिनट या अधिक व्यायाम भी करते थे।
 

Related News