23 JULTUESDAY2024 8:12:51 AM
Nari

अब बेबी कंसीव करने की कोशिश नहीं होगी फेल! इन टिप्स को अपनाने से जल्द मिलेगी Good News

  • Edited By Charanjeet Kaur,
  • Updated: 24 May, 2023 12:09 PM
अब बेबी कंसीव करने की कोशिश नहीं होगी फेल! इन टिप्स को अपनाने से जल्द मिलेगी Good News

 

आजकल बेबी कंसीव करने में मुश्किल के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। कहीं न कहीं लाइफस्टाइल में आए बदलाव और फास्ट लाइफ से इस चीज में फर्क पड़ा है। कई बार देर से शादी करना भी इसकी वजह हो सकता है। वहीं इनफर्टिलिटी की समस्या से जोड़ देते हैं। हालांकि कई बार फर्टिलिटी विंडो के बारे में जानकारी ना होने के कारण भी कंसीव करने में मुश्किल होती है। अगर आपको कुछ बातें जाननी चाहिए जैसे किस दिन शारीरिक संबंध बनाना है, जिससे प्रेग्नेंसी के चांस बढ़ सकते हैं....

PunjabKesari


कैसे कंसीव होता है बेबी

सबसे पहले तो ये जानने की जरूरत है कि बेबी कंसीव कैसे होता है। शारीरिक संबंध बनाने के बाद इजेकुलेशन होती है, जिससे स्पर्म महिला के शरीर में प्रवेश करते हैं। स्पर्म अपनी जगह पर बने रहने की कोशिश करते हैं, लेकिन कई सारे तो जिंदा नहीं रह पाते क्योंकि महिलाओं की योनि बहुत ही एसिडिक होती है और इम्यून सिस्टम किटाणु समझ कर इन्हें मारने लगते हैं। हालांकि कुछ हेल्दी स्पर्म अपनी कोशिश में कामयाब हो जाते हैं। इस दौरान एग फैलोपियन ट्यूब से नीचे आने लगते हैं। शारीरिक संबंध बनाने के दौरान जब महिला को ऑरेगेज्म होने के बाद वजाइना, यूट्रस औस सर्विक्स में एक साथ कॉन्ट्रैक्शन होने लगता है। ऐसे में ये स्पमर्स को आसानी से अंदर धकेलने में मदद करता है। एग नीचे की तरफ आते समय प्रोसेटाग्लैंड्स नाम का केमिकल रिलीज करता है, जो स्पर्म को सही रास्ता दिखाने का काम करते हैं। अंडे की स्तह पर ग्लोइकोप्रोटीन होता है और स्पर्म को बस वहीं अंडे से जोड़ लेना है। जैसे ही स्पर्म अंदर चला जाता है, वैसे ही एग अपनी बाहरी परत को सील कर देता है।

PunjabKesari

सही दिन बनाएं पति के साथ संबंध

प्रेग्नेंट होने के लिए एग्स को आपके पार्टनर के स्पर्म से फर्टिलाइज होना बेहद जरूरी है। एक्सपर्ट की मानें तो ओव्यूलेशन से तीन दिन पहले और ओव्यूलेशन के दिन माने जाते हैं। इस समय पर पार्टनर के साथ संबंध बनाने पर प्रेग्नेंसी का चांस बढ़ जाता है। ऐसे में ओव्यूलेशन से करीब 5 दिन पहले या ओव्यूलेशन वाले दिन शारीरिक संबंध बनाते हैं तो कंसीव करने का चांस बढ़ जाता है। पीरियड्स के 12-16 दिन पहले गर्भ ठहरने की संभावना ज्यादा होती है।

फैलोपियन ट्यूब होना  चाहिए सही

प्रेग्नेंट होने के लिए महिलाओं को यूटरस और फैलोपियन ट्यूब नॉर्मल होनी चाहिए और ओवरी में एग ठीक तरह से बनना चाहिए। अगर एक महिला के शरीर में ये तीन चीजें नॉर्मल है, तो वो जल्दी कंसीव कर सकती है। वहीं पुरुष का स्पर्म हेल्दी होना भी बहुत जरूरी है। 

PunjabKesari

Related News