27 JUNTHURSDAY2019 3:44:38 PM
Nari

सर्दी-जुकाम को मिनटों में गायब कर देगी 'मसाला चाय'

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 25 Dec, 2018 11:59 AM
सर्दी-जुकाम को मिनटों में गायब कर देगी 'मसाला चाय'

सर्दियों का मौसम अपने साथ सर्दी-जुकाम, फ्लू, कफ जैसी कई प्रॉबल्म लेकर आता है। हालाकि कि ये समस्याएं आम है लेकिन इन सब प्रॉबल्म के कारण काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। दवाइयां करने के बाद भी सर्दी-जुकाम आसानी से नहीं जाता। ऐसे में बेहतर है कि दवाइयों के साथ-साथ कुछ घरेलू उपचार भी करें। आज हम आपको एक घरेलू मसाले वाली चाय के बारे बताएंगे जो बदलते मौसम में होने वाली इन छोटी-छोटी प्रॉबल्म से आपका बचाव करती रहेगी।  

 

मसाला चाय बनाने की सामग्री:

लौंग
अदरक
इलायची
काली मिर्च
तुलसी की पत्तियां

 

चाय बनाने की विधि: 

बर्तन में एक गिलास पानी लेकर इसमें एक चम्मच चाय पत्ती डाल लें। फिर इसमें लौंग, अदरक और इलायची, काली मिर्च और तुलसी के कुछ पत्ते मिलाएं। इस मिश्रण को तब तक उबालते रहे जब तक पानी आधा न हो जाए। इस चाय का फ्लेवर बढ़ाने के लिए आप चाहे तो इसमें 1 चम्मच शहद भी मिला सकते हैं। जब चाय बनकर तैयार हो जाए तो इसे गर्मा-गर्म पीएं। 

PunjabKesari

मसाले वाली चाय के अन्य फायदे:

इम्यून सिस्टम बढ़ाएं

इस चाय में एंटी-ऑक्सीडेंट व पॉलीफैनल गुण होते हैं जो इम्यूनिटी को बूस्ट करने में मदद करते हैं। इससे सर्दी-जुकाम की प्रॉबल्म से बचाव होता है। इसके अलावा, यह चाय फ्री-रेडिकल्स को कम करके कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाती है। 

पाचन में सुधार

काली मिर्च में प्राकृतिक रुप से डाइजेस्टिव एंजाइम होते है। चाय में काली मिर्च मिली होने के कारण पाचन तंत्र मजबूत बना रहता है। इससे पेट से जुड़ी अन्य प्रॉबल्म भी दूर होती है। 

जी मिचलाना

इस चाय में अदरक भी मौजूद होता है जो जी मिचलाने की समस्या में औषधि का काम करता है। अदरक में मौजूद बायो-एक्टिव और एंटी-इफ्लेमेंट्री गुण जी-मिचलाने की समस्या को कम कर देते है। 

अर्थराइटिस दर्द 

इस चाय में इबुप्रोफेन गुण होते हैं जो अर्थराइटिस के दर्द को कम करने में मदद करते हैं। साथ है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेंट्री शरीर में होने वाली सूजन को कम करते हैं।

Related News

From The Web

ad