Twitter
You are hereLife Style

नारियल या जैतून, खाना पकाने के लिए कौन-सा तेल है बेहतर?

नारियल या जैतून, खाना पकाने के लिए कौन-सा तेल है बेहतर?
Views:- Friday, July 6, 2018-1:05 PM

बदलते लाइफस्टाइल में अपनी सेहत को लेकर सतर्क रहने की जरूरत हम सभी को हैं। जहां हमें पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेनी चाहिए, वहीं इस बात का ध्यान भी रखना होगा कि जिस तेल में हम खाना पका रहे हैं वो हमारी सेहत के लिए अच्छा है भी या नहीं। आपको बता दे कि अच्छी सेहत कहीं न कहीं इस बात पर भी निर्भर करती है कि आप किस तेल में पका हुआ खाना खा रहे हैं, वो तेल स्वास्थ्य गुणों से भरपूर है या नहीं। अधिकतर लोग खाना पकाने के लिए नारियल तेल को बेहतर समझते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिनका मानना है कि खाना पकाने के लिए नारियल तेल से अच्छा  जैतून तेल हैं। अगर आप भी अपना खाना पकाने वाले तेल को लेकर कंफ्यूज है तो आज हम आपको बताएगे कि नारियल और जैतून दोनों में से कौन-सा तेल बढ़िया है। 

 

 


नारियल तेल के गुण
नारियल तेल में पका हुआ खाना पौष्टिक के साथ अधिक समय तक फ्रैश भी रहता है। नारियल तेल खाने में मौजूद सभी पोषक तत्वों का अवशोषण कर लेता है, जो सीधे हमारे शरीर के अंदर पहुंचाने का काम करता है। बताया जाता है कि नारियल तेल में 92 फीसदी सैच्युरेटेड फैट होता है और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा न के बराबर होती है। सेहत के लिए तो नारियल तेल काफी फायदेमंद है लेकिन डीप फ्राई करने के लिए यह तेल बैस्ट नहीं है। 

 

 

नारियल तेल के फायदे
- सैचुरेटेड फैटी एसिड से भरपूर यह तेल, भूख को लंबे समय तक शांत रखता है। 
- नारियल तेल में पका खाना खाने से दिमागी समस्याएं दूर करने में मदद मिलती है। 
- इसके अलावा यह तेल बाकी तेलों की तुलना में आसानी से पच जाता है
- यह तेल शरीर को वायरस, फंगस और अन्य बैक्टीरिया से बचाए रखने का क्षमता रखता है। 
- एक शोध का मानना है कि यह तेल दिल के मरीजों के लिए सही नहीं है। 

 

 

जैतून के गुण
जैतून तेल को कई ब्यूटी प्रॉडक्ट्स में मिलाया जाता है लेकिन सेहत के लिहाज से भी यह तेल काफी फायदेमंद है। 1 दिन में जैतून तेल का एक कप शरीर में 17 प्रतिशत फाइबर की पूर्ति करता है। इस तेल में मोनोसैचुरेटेड फैट्स भी होता है, जो शरीर में विटामिन ई की पूर्ति करता है। इसके अलावा जैतून तेल में  फाइटोन्यूट्रिएटंस ओलेकैंथेल और ओलेइक एसिड भी होता है। 

 

 

जैतून तेल के फायदे
- जैतून तेल में पका हुआ खाना खाने से शरीर की फैट कंट्रोल में रहती है। अगर आप भी अपने वजन को कंट्रोल में रखना चाहते है तो इस तेल में खाना पकाकर खाएं। 
- इसके अलावा दिल की बीमारियों और हाई ब्लड प्रैशर से बचाव के लिए भी यह तेल बैस्ट है। 
- जैतून तेल में पका खाना खाने से शरीर में ग्लूकोज आसानी से डाइजेस्ट होता है, जो डाइबिटीज में काफी जरूरी है। 
- इसमें मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण अल्सर को बढ़ावा देने वाले बैक्टीरियां को लड़ने की क्षमता प्रदान करता है। इसके अलावा यह तेल कैंसर से लड़ने में भी मदद करता है। 

 

 

नारियल या जैतून, कौन-सा तेल है बेहतर
नारियल तेल में सैचुरेटेड फैटी एसिड होता है, जो दिल को नुकसान पहुंचा सकता है इसलिए खाना पकाने के लिए जैतून तेल बेहतर ऑप्शन है क्योंकि इसमें विटामिन ई, एंटीऑक्सीडेंट और कैंसर रोधी होते हैं, जिससे आधी हैल्थ प्रॉबल्म में तो आसानी से राहत मिल जाती है। आपको बता दे कि इस का अधिक मात्रा में इस्तेमाल भी ठीक नहीं इसलिए बेहतर होगा कि जैतून तेल को भी सहीं मात्रा में ही इस्तेमाल करें। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by: