01 JUNMONDAY2020 7:42:52 PM
Nari

फास्टिंग से मिलेंगे कई फायदे, बस जान लें सही तरीका

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 25 Feb, 2020 04:21 PM
फास्टिंग से मिलेंगे कई फायदे, बस जान लें सही तरीका

आज के समय में सभी खुद को फिट एंट फाइन रखने के लिए अलग-अलग चीजों को अपनाते है। ऐेसे में कुछ लोग अपने बढ़े हुए वजन को कम करने के लिए उपवास रखते है। फास्टिंग यानि उपवास रखना सिर्फ पूजा पाठ तक ही सीमित नहीं है। हफ्ते में 1 दिन उपवास रखने से दिल और दिमाग के साथ शरीर को भी ढेरों फायदे मिलती है। इससे इम्यून सिस्टम स्ट्रांग होने के साथ सेहत बरकरार रहती है। यह शरीर में जमा एक्ट्रा चर्बी को कम करने के साथ बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता है। तो चलिए आज हम आपको उपवास रखने के फायदों के बारे में बताते है। मगर उससे भी पहले जानते है फास्ट किन तरीकों से रखे जा सकते है। वैसे तो उपवास या व्रत रखने का सही समय 1 से 3 दिन के बीच मतलब  24 से 72 घंटे के बीच का होता है। इसके अलावा उपवास इन तरीकों से रखे जा सकते है।

वॉटर फास्टिंग

इस उपवास के दौरान पानी पीने का समय तय किया जाता है। उस निश्चित समय में ही पानी का सेवन किया जाता है।

जूस फास्टिंग

इस तरह के उपवास में पूरे दिन या कुछ घंटों के लिए सिर्फ जूस का ही सेवन किया जाता है। हां आप फलों या सब्जियों का जूस पी सकते है।

Image result for juice drinking girl,nari

इंटरमिटेंट फास्टिंग

इंटरमिटेंट फास्टिंग थोड़ा मुश्किल भरा होता है। क्योंकि इसमें पूरे दिन में 14 से 16 घंटों के लिए कुछ भी खाया या पीया नहीं जाता है। इसमें व्यक्ति को पूरी तरह से भूखे रहना पड़ता है।

आंशिक उपवास

इस उपवास में खुद पर बाहर की चीजों को खाने से कंट्रोल रखा जाता है। इसमें व्यक्ति सीमित डायट प्लान को फॉलो करता है। उसे  प्रोसेस्ड फूड, नॉन वेज और ऐनिमल प्रॉडक्ट्स, कैफीन आदि चीजों को खाने से परहेज रखना पड़ता है।

Image result for say no to junk food girl,nari

कम कैलोरी वाला उपवास

इसमें उन चीजों को खाया जाता है जिसमें कैलोरी मात्रा बहुत ही कम पाई जाती हो।

फास्ट या उपवास रखने के फायदे..

 

ब्लड शुगर रहती है कंट्रोल

डायबिटीज के पेशेंट के लिए फास्टिंग करना फायदेमंद होता है। खासतौर पर टाइप 2  डायबिटीज के मरीजों को उपवास रखना चाहिए। मगर हर कुछ घंटों के लिए रखना चाहिए। फास्ट रखने से इंसुलिन रेजिस्टेंस कम होता है और शरीर में इंसुलिन के प्रति सेंसिटिविटी बढ़ती है। इससे खून में मौजूद ग्लूकोज आसानी से कोशिकाओं तक पहुंचता है।

दिल रहता है स्वस्थ

एक्सपर्ट्स के अनुसार अपनी डेली रूटीन में कुछ बदलाव लाकर दिल से जुड़ी बीमारियों के होने के खतरे को कम किया जा सकता है। ऐसे में उपवास रखने से दिल हैल्दी रहता है। यह शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में फायदेमंद होता है। एक रिसर्च के मुताबिक भी फास्टिंग से ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में रहता है जिससे दिल स्वस्थ रखने में मदद मिलती है।

Image result for healthy heart,nari

इम्यून सिस्टम होता है स्ट्रांग

उपवास रखने से इम्यून सिस्टम बेहतर होता है जिससे शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है। यह शरीर में पाएं जाने वाले फ्री रैडिकल्स के कारण होने वाले नुकसान के खतरे को कम करता है। इसके अलावा बॉडी में जलन, सूजन और किसी तरीके दर्द होने की परेशानी से राहत मिलती है। इस दौरान भोजन कम या ना मात्र खाने से पाचन तंत्र पर अधिक भार नहीं पड़ता जिससे यह बेहतर होने में मदद मिलती है।

स्किन होती है जवां

उपवास करने से यह स्लो मेटाबॉलिज्म को तेज करने में मदद मिलती है। इसके साथ ही त्वचा पर पड़े एंटी-एजिंग के निशान कम होते है। स्किन जवां होने के साथ उम्र बढ़ती है।

वजन घटाएं

उपवास करने से आप काफी समय तक कुछ नहीं खाते है जिससे शरीर की एक्सट्रा चर्बी कम होने में मदद मिलती है। ऐेसे में आप आसानी से सही शेप में आ सकते हैै।

Image result for weight loss,nari

उपवास रखने से पहले इन बातों का ध्यान रखना है जरूरी

- अगर कोई बीमार है तो ऐसी हालत में उपवास रखने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना न भूलें।
- जैसे कि सभी जानते ही होंगे कि  ब्लड शुगर के मरीजों को हर 2 घंटे में कुछ न कुछ खाना चाहिए। ऐसे में इनका उपवास रखना इन्हें भारी पड़ सकता है। काफी समय तक भूखे रहने से शुगर लेवल के बढने का खतरा हो सकता है।
- उपवास 24 घंटे के लिए यानि 1 दिन से ज्यादा न रखें।
- उपवास के दौरान कुछ खाना हो चाहे नहीं मगर बीच- बीच में पानी पीते रहना चाहिए। ऐसा करने से डिहाइड्रेशन की परेशानी से बचा जा सकता है।

 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News