23 OCTFRIDAY2020 5:31:07 PM
Life Style

पंजाब सरकार की तरफ से तौहफा: लड़कियों के लिए नर्सरी से PhD तक शिक्षा मुफ्त

  • Updated: 27 Jun, 2017 04:41 PM
पंजाब सरकार की तरफ से तौहफा: लड़कियों के लिए नर्सरी से PhD तक शिक्षा मुफ्त

पंजाब केसरी (लाइफस्टाइल): कहा जाता है कि लड़कियां किसी से कम नहीं, वहीं आज हमारे देश में कुछ इलाके है, जहां लड़कियों की शिक्षा पर कोई खास जोर नहीं दिया जा रहा है। यहीं कारण है कि लड़कियां काफी पीछे रह जाती हैं लेकिन आज भी कुछ क्षेत्रों में लड़कियों को उच्च शिक्षा दीं जाती है। 

 

यह सहीं भी क्योंकि लड़कियों का पढ़ना-लिखना बहुत जरूरी हैं, लड़कियां पढ़ेंगी तभी समाज तरक्की करेगा। इन सब में दिक्कत आती है तो उनकी पढ़ाई के खर्चे को लेकर। ज्यादातर पेरेंट्स पैसों की कमी के कारण बच्चियों को पढ़ाने से रह जाते है लेकिन अब सभी पेरेंट्स और लड़कियों के लिए खुशी की बात है क्योंकि पंजाब के कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने नर्सरी से पीएचडी तक सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में लड़कियों के लिए मुफ्त शिक्षा की घोषणा कर दीं है। 

 

हाल ही में कैप्टन सिंह ने घोषणा कि अगले शैक्षणिक सत्र से सरकारी विद्यालयों में सभी छात्रों को निःशुल्क यानी फ्री किताबें दीं जाएगी। उन्होंने बताया कि पुस्तकें भी ऑनलाइन उपलब्ध कराई जाएंगी, जिसे छात्र मुफ्त में डाउनलोड कर सकते है। इसके अलावा उन्होंने नर्सरी और एलकेजी कक्षाओं को अगले साल से सरकारी स्कूलों में फिर से प्रवेश दें दिया है।  उन्होंने 13,000 प्राथमिक स्कूलों और सभी 48 सरकारी कॉलेजों के लिए वाई-फाई की मुफ्त सुविधा देने की घोषणा कीं। 

 

भारत 2011 की जनगणना के अनुसार, पंजाब में साक्षरता दर 75.84% है जो राष्ट्रीय औसत 73.0% से बेहतर है। पंजाब में साक्षियों की कुल संख्या 1,87,07,137 है पुरुष साक्षरता दर 80.44% है और महिला साक्षरता दर 70.73% है।

Related News