21 APRWEDNESDAY2021 7:38:38 PM
Nari

बसंत पंचमी के दिन क्यों पहने जाते हैं पीले वस्त्र?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 15 Feb, 2021 12:04 PM
बसंत पंचमी के दिन क्यों पहने जाते हैं पीले वस्त्र?

बसंत ऋतु के दिन फसल की वजह से धरती पीली नजर आती है। वहीं, लोग भी इस खास दिन का स्वागत पीले कपड़े पहनकर करते हैं। दरअसल, हिंदू धर्म में पीला रंग बहुत शुभ माना जाता है वहीं ज्ञान की देवी माता सरस्वती को भी पीला रंग अति प्रिय है। इसके अलावा यह रंग शुद्धता, सादगी, निर्मलता और सात्विक प्रवृति का भी प्रतीक है। यही वजह है कि बसंत पर पीले कपड़े पहनने के साथ पीले चावल, लड्डू, केसर की खीर बनाने की प्रथा है।

बसंत पंचमी के दिन क्यों पहने जाते हैं पीले वस्त्र?

बसंत ऋतु के दिन फसल की वजह से धरती पीली नजर आती है। वहीं, लोग भी इस खास दिन का स्वागत पीले कपड़े पहनकर करते हैं। दरअसल, हिंदू धर्म में पीला रंग बहुत शुभ माना जाता है वहीं ज्ञान की देवी माता सरस्वती को भी पीला रंग अति प्रिय है। इसके अलावा यह रंग शुद्धता, सादगी, निर्मलता और सात्विक प्रवृति का भी प्रतीक है। यही वजह है कि बसंत पर पीले कपड़े पहनने के साथ पीले चावल, लड्डू, केसर की खीर बनाने की प्रथा है।

PunjabKesari

क्यों की जाती हैं सरस्वती माता की पूजा?

मान्यता है कि इस दिन माता सरस्वती का जन्म हुआ था इसलिए इस दिन माता सरस्वती की पूजा की जाती है। लोग सुबह स्नान करने के बाद पहले मां सरस्वती की पूजा करते हैं और उसके बाद पंतग उड़ाना शुरू कर देते हैं। इसके साथ ही बसंत पंचमी पर कुछ बातों का ध्यान रखना भी बहुत जरूरी है...

PunjabKesari

केसर खीर

बंसत पंचमी के दिन पीले-केसरी रंग का पकवान बनाना शुभ माना जाता है। आप इस खास दिन मीठी-मीठी खीर बना सकते हैं और पीला रंग देने के लिए इसमें केसर की पंखुड़ियां डालें। 

बसंत पंचमी पर क्या करें?

.. महिलाओं को चाहिए कि सुबह जल्दी उठकर मां सरस्वती का 5 से 10 मिनट ध्यान जरुर करें। मंदिर की अच्छी तरह साफ-साफई करके मां की पूजा-अर्चना करें।
. बड़े बुर्जों का आशीर्वाद लें। साथ ही इस दिन पीले वस्त्र जरूर पहनें क्योंकि यह मां सरस्वती को अति प्रिय है। साथ ही माता को भोग भी पीले प्रसाद का लगाएं।
. मां सरस्वती ज्ञान, गायन- वादन और बुद्धि की देवी है इसलिए इस दिन छात्रों, गुरु, पुस्तक की पूजा करना अच्छा होता है।
. देवी सरस्वती की पूजा करने के बाद गरीब बच्चों को कलम व पुस्तकों का दान करें।
. माता सरस्वती विद्या के साथ-साथ मधुर वाणी के लिए भी जानी जाती हैं इसलिए संगीत से जुड़े व्यक्ति इस दिन अपने यंत्रों पर तिलकर लगाकर मां की अराधना करें।
. इस दिन मां सरस्वति को पीले फूल व भोजन, बांसुरी भेंट करना भी शुभ माना जाता है।
. अगर आपका बच्चा 6 महीने का हो चुका है तो इसी दिन उसे अन्न का पहला दाना खिलाएं।

बसंत पंचमी पर क्या न करें?

. इस दिन छात्रों, गुरु, पुस्तक, गरीब लोगों का भूलकर भी अपमान ना करें और ना ही किसी को झूठ व अपशब्द कहें।
. इस दिन मांस-मछली, शराब या किसी भी तरह की तामसिक चीजों का सेवन ना करें।
. महिलाएं दिन के समय ना सोएं। साथ ही घरर में कलह-कलेश ना करें।
. बाल धोने और उन्हें काटने की गलती भी न करें। पेड़-पौधों की कांट-छांट भी नहीं करनी चाहिए। 

PunjabKesari

Related News