22 SEPSUNDAY2019 6:28:34 PM
Nari

Women Power: महिला राज्यपाल ने लिया TB ग्रस्त बच्ची को गोद तो कर्मचारियों ने भी उठाया जरूरी कदम

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 27 Aug, 2019 07:28 PM
Women Power: महिला राज्यपाल ने लिया TB ग्रस्त बच्ची को गोद तो कर्मचारियों ने भी उठाया जरूरी कदम

देश में ऐसे कई बच्चे है जिन्हें न केवल एक समय के पौष्टिक आहार के लिए काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है बल्कि कुपोषण के चलते बीमारियों से ग्रस्त हो गए हैं। भारत की काफी संख्या में लोग टी.बी. की बीमारी का शिकार हो रहे हैं। भारत में बढ़ते हुए टीबी के मरीज को देखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2025 तक देश को टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा है। वहीं इस समय लखनऊ जिले में टीबी के 14,600 के करीब मरीज पाए गए हैं। यहां पर लोगों को टीबी के बारे में जागरुक करने व उनकी देखभाल करने के लिए वहां की राज्यपाल आनंदीबेन ने एक टीबी ग्रसित बच्चे को गोद लिया।

PunjabKesari, Nari

राज्यपाल को देखकर बाकी कर्मचारियों ने भी लिए 21 टीबी ग्रस्त बच्चे गोद

उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने टीबी से पीड़ित जब एक बच्ची को गोद लिया तो उन्हें देख कर राजभवन के कर्मचारियों ने भी टीबी से पीड़ित 21 बच्चों को अपना लिया। बच्चों के स्वस्थ, दवा व पौष्टिक आहार का ध्यान रखने के लिए राज्यपाल के साथ अन्य स्टाफ को नियुक्त किया गया है।

आनंदीबेन पटेल ने कहा, "सभी बच्चे राजभवन के पास के एक इलाके से हैं। इसलिए उन पर ध्यान देना आसान होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2025 तक भारत को टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा है। इसी को ध्यान में रखते हुए राजभवन ने आगे बढ़कर टीबी से पीड़ित बच्चों को गोद लेने का फैसला किया।" 

PunjabKesari, Nari

राजभवन के एक अधिकारी ने सुझाव देते हुए कहा था कि टीबी रोकने के लिए लोगों को जागरुक करने की शुरुआत राजभवन के पास के क्षेत्र से करनी चाहिए। जो लोग उनकी मदद कर सकते है उन्हें उनकी मदद करनी चाहिए। जब आनंदीबेन ने बच्चे को गोद लिया तो उसके बाद राजभवन के अधिकारियों ने 21 अन्य बच्चों को भी गोद ले लिया। जिनकी सारी सरकारी दवा व पौष्टिक आहार का उन्होंने दायित्व लिया हैं। 

 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News