21 OCTMONDAY2019 6:56:18 PM
Nari

प्रेशर कुकर में बनाया खाना हैल्दी या अनहैल्दी, जानिए पूरा सच!

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 26 Feb, 2019 07:01 PM
प्रेशर कुकर में बनाया खाना हैल्दी या अनहैल्दी, जानिए पूरा सच!

बिजी शैड्यूल में हर कोई अपना काम तेजी से निपटाना चाहता है फिर वो काम ऑफिस का हो या घर। महिलाएं भी रसोई का काम तेजी से खतम करना चाहती हैं जिसका एक कारण महिलाओं का वर्किंग होना भी है। इसलिए हर काम को जल्दी में ही किया जाता है। अब रसोई के कामों को ही ले लीजिए। खाना बनाने के लिए ऐसे बर्तनों का इस्तेमाल किया जाने लगा है जिसमें वह जल्दी व आसानी से तैयार हो जाता है। दाल-सब्जी बनाने के लिए  प्रेशर कुकर का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन क्या आप जानते है कि प्रेशर कुकर में बनाया खाना हैल्दी होता है या नहीं, चलिए आज हम आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं। 

प्रेशर कुकर में कैसे पकता है खाना?

यह खाना पकाने का एक ऐसा तरीका है जिसमें कुकर के अंदर बंद स्टीम यानी भाप के जरिए खाने को पकाया जाता है। कुकर के अंदर मौजूद पानी को जब गैस पर गर्म किया जाता है तो उसका प्रेशर बढ़ता है और भाप के जरिए खाना पकता है और खाना बनने में ज्यादा समय भी नहीं लगता और गैस की भी बचत होती है।

 

प्रेशर कुकर में बना खाना कितना हेल्दी?

कुछ लोग मानते हैं कि कुकर में बना खाना अनहेल्दी होता है क्योंकि इसमें भोजन बहुत ज्यादा तापमान पर गर्म होता है और खाने में मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं जबकि दूसरे लोगों का मानना है कि कुकिंग का यह तरीका हेल्दी है क्योंकि इसमें खाना बहुत कम समय के लिए हीट के संपर्क में रहता है और इसलिए खाने में मौजूद पोषक तत्व बरकार रहते हैं।

PunjabKesari

 

हेल्दी ऑप्शन

अगर हम बॉइलिंग से तुलना करें तो स्टीम के जरिए खाना पकाना ज्यादा हेल्दी ऑप्शन है। एक्सपर्ट्स की मानें तो प्रेशर कुकिंग के जरिए सब्जियों में मौजूद पोषक तत्व बरकरार रहते हैं जबकि सब्जियों को अगर दूसरे किसी तरीके से पकाया जाए तो बहुत ज्यादा गर्म किए जाने की वजह से सब्जियों के न्यूट्रिएंट्स नष्ट हो जाते हैं।

 

फूड पर भी करता है डिपेंड

प्रेशर कुकर हर खाने को बनाने के लिए अलग तरीके से काम करता है। उदाहरण के लिए कुकर में पका चावल, खुले बर्तन में पके चावल की तुलना में ज्यादा भारी होता है जबकि प्रेशर कुकर में पका टमाटर ज्यादा हेल्दी होता है। वहीं बात चिकन या मटन की करें तो खुले बर्तन में पकाने की तुलना में कुकर में पके मीट को डाइजेस्ट करना ज्यादा आसान होता है।

PunjabKesari

 

 गंभीर बीमारियों का भी खतरा 

चावल, आलू, पास्ता और बार्ली जैसे स्टार्च वाले भोज्य पदार्थ को जब प्रेशर कुकर में पकाया जाता है तो उससे एक्रीलामाइड नाम का हानिकारक केमिकल बनता है जिसका अगर नियमित रूप से सेवन किया जाए तो कैंसर, नपुंसकता और न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर जैसी कई बीमारियां हो सकती हैं।

PunjabKesari

Related News