20 OCTSUNDAY2019 4:15:55 AM
travelling

भारत के इन शहरों में अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है दशहरा

  • Updated: 28 Sep, 2017 12:45 PM
भारत के इन शहरों में अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है दशहरा

दशहरे का त्यौहार भारत में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन भगवान राम ने रावण को मार कर विजय हासिल की थी। उसी दिन की याद में यह त्यौहार आज सारे भारत में मनाया जाता है। जिस तरह हर राज्य और समुदाय के अलग-अलग रिवाज होेते हैं उसी तरह भारत में अलग-अलग तरीकों से दशहरे का त्यौहार मनाया जाता है। आइए जानिए अलग-अलग राज्यों में दशहरा मनाने का तरीका

1. कुल्लू
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू शहर में हर साल दशहरे के दिन बहुत ही चहल-पहल होती है। इस दिन यहां के लोग भगवान राम और रावण की नहीं बल्कि अपने गांव के देवता भगवान रघुनाथ जी की पूजा करते हैं। वे इस दिन बड़े ही धूम-धाम और ढोल-नगाड़ों से भगवान की पालकी निकालते हैं।
PunjabKesari
2. बस्तर
छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में लोग दशहरे के दिन मां दंतेश्वरी यानी मां दुर्गा की पूजा करते हैं। यह त्यौहार पूरे 75 दिनों तक चलता है और लोग बड़े ही धूमधाम से इसे मनाते हैं।
PunjabKesari
3. बंगाल
बंगाल में दुर्गा पूजा का बहुत ही महत्व है। वहां 9 दिनों तक मां दुर्गा की मूर्ति लोग अपने घरों में लाते हैं और उनकी पूजा करते हैं। दशहरे वाले दिन वे दुर्गा मां की मूर्ति को पानी में विसर्जित कर देते हैं। इस दिन में महिलाएं नए-नए कपड़े पहन कर मां की पूजा करती हैं और एक-दूसरे के साथ सिंदूर खेलती हैं।
PunjabKesari
4. मैसूर
मैसूर शहर में दशहरे का त्यौहार बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन पूरे शहर में रौशनी की जाती है और हाथियों पर जुलूस निकाला जाता है। दशहरे के दिन मैसूर महल को भी दीप मालाओं और लाइटों से दुल्हन की तरह सजाया जाता है।
PunjabKesari
5. महाराष्ट्र
महाराष्ट्र में दशहरे से 9 दिन पहले मां दुर्गा की पूजा की जाती है और दसंवे दिन यानि दशहरे पर मां सरस्वती की पूजा होती है। इस दिन बच्चे पढ़ाई में सफलता पाने के लिए मां सरस्वती का आशीर्वाद लेते हैं।
PunjabKesari

Related News