27 OCTWEDNESDAY2021 1:15:21 PM
Nari

Shradh Paksha में करना ना भूले ये काम, टल जाएगा बड़े से बड़ा संकट

  • Edited By neetu,
  • Updated: 25 Sep, 2021 01:47 PM
Shradh Paksha में करना ना भूले ये काम, टल जाएगा बड़े से बड़ा संकट

पितृ पक्ष की अवधि में लोग अपने पूर्वजों का श्राद्ध व तर्पण करते हैं। मान्यता है कि इससे पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। उन्हें स्वर्ग के रास्ते में जाने पर आने वाली बांधाएं दूर होती है। इसके साथ ही घर-परिवार पर पितरों का आशीर्वाद बना रहता है। मगर पितर नाराज होने से जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए आज हम आपको पितृ पक्ष में करने के कुछ खास काम बताते हैं। इससे आप पर अपने पूर्वजों की असीम कृपा बरसेगी। मान्यता है कि घर-परिवार पर पूर्वजों का आशीर्वाद होने से जीवन में आने वाला बड़े से बड़ा संकट दूर हो जाता है। चलिए जानते हैं इसके बारे में...

तर्पण करें

इस अवधि में पितरों के साथ देव, ऋषि, दिव्य मानव, यम और पितरों के देव अर्यमा का भी तर्पण करना चाहिए। इसके अलावा अपने परिवार के अलावा माता के परिवार जो लोक इस दुनिया में नहीं है उनका भी श्राद्ध करना चाहिए। इससे पूर्वजों की आत्मा को शांति मिलती है। साथ ही वे अपने बच्चों को आशीर्वाद देते हैं।

PunjabKesari

गीता का पाठ करना शुभ

इस दौरान घर पर गीता पाठ करना चाहिए। कहा जाता है कि इससे पूवर्जों को नर्क की यातनाओं से मुक्ति मिलकर भगवान के चरणों का स्थान मिलता है। इसके पितृ पक्ष की अवधि में गीता का दूसरा व सातवां अध्याय जरूर पढ़ें। इससे पितरों को उनके कष्टों से छुटकारा मिलेगा। ऐसे में वे आप पर अपनी असीम कृपा बरसाएंगे।

दान करें

पितृ पक्ष के दौरान दान करना बेहद शुभ होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इससे पूर्वजों व देवी-देवताएं प्रसन्न होते हैं। वे अपने बच्चों के सभी दुख दूर कर देते हैं। इसतरह घर में सुख-समद्धि व शांति का वास होता है। इसके लिए इस दौरान किसी गरीब, जरूरतमंद को काले, तिल, गुड़, नमक, अन्न, कपड़े, छाता, चांदी, सोना आदि अपने  सामर्थ्य के अनुसार दान करें।

पीपल का पौधा लगाना शुभ

हिंदू धर्म में पीपल के पौधे में देवी-देवताओं का वास माना जाता है। इसलिए इस दौरान पीपल का पौधा लगाने से पितर प्रसन्न होते हैं। मान्यता है कि पौधे के बड़े होने के साथ-साथ पितरों की समस्या दूर होती है। साथ ही उन्हें मुक्ति मिलती है। अगर आप इस पौधे को नहीं इस अवधि में रोजाना एक उपाय कर सकते हैं। इसके लिए एक स्टील के लोटे में पानी, काले तिल, कच्चा दूध, जौ और शहद मिलाकर पीपल की जड़ पर चढ़ाएं। जल अर्पित करते दौरान ‘ॐ पितृभ्य: नम:’ मंत्र का जप करें।

PunjabKesari

पितरों के नाम से दीपक जलाएं

इस दौरान घर की दक्षिण दिशा में पितरों के नाम पर एक दीपक जरूर जलाएं। पीपल पौधे के नीचे भी दीपक जलाना शुभ माना जाता है। इससे पितरों को संतुष्टि मिलती है कि उनके इस दुनिया में ना होने के बावजूद भी उनके बच्चों को वे याद है। ऐसे में वे अपने वंशजों पर अपनी कृपा बरसाते हैं।

Related News