29 NOVMONDAY2021 5:11:52 AM
Nari

घर की सुख-समृद्धि के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर जरूर करें ये उपाय

  • Edited By neetu,
  • Updated: 19 Nov, 2021 10:16 AM
घर की सुख-समृद्धि के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर जरूर करें ये उपाय

हिंदू धर्म में शुभ तिथियों का विशेष महत्व है। इसमें से पूर्णिमा तिथि भी बेहद शुभ मानी जाती है। वैसे तो सालभर में कई पूर्णिमा आती है। मगर कार्तिक मास में पड़ने वाली इस तिथि को बेहद शुभ माना जाता है। इसी दिन देव दीपावली यानि देवी-देवताओं की दिवाली भी मनाई जाती है। इस साल यह शुभ तिथि 19 नवबंर 2021, दिन शुक्रवार को पड़ रही है।

कार्तिक पूर्णिमा का महत्व

धार्मिक मान्यताओं अनुसार, इस दिन भगवान शिव ने त्रिपुरासुर राक्षस का वध करके देवताओं को उनका स्वर्ग दोबारा लौटा था। इसके साथ ही भगवान विष्णु ने मत्स्या अवतार लेकर प्रलय काल में पृथ्वी पर जीवन की रक्षा की थी। इसलिए धरती पर इस दिन देव दिपावाली मनाने की परंपरा है। कहा जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा के शुभ दिन पर देवी-देवता स्वयं धरती पर आकर दिवाली मनाते हैं। इसलिए इस दिन दीपदान विशेष तौर पर किए जाते हैं।

गंगा-यमुना में कुशा स्नान

इस दिन गंगा-यमुना में कुशा स्नान करना शुभ माना जाता है। इसके लिए हाथ में कुशा लेकर पवित्र नदी में स्नान करें। उसके बाद दान जरूर दें। मान्यता है कि इससे हर तरह के रोगों से छुटकारा मिलता है। इसके साथ ही घर में सौभाग्य का वास होता है।

PunjabKesari

मुख्य द्वार पर हल्दी मिश्रित जल से बनाएं स्वास्तिक

कार्तिक पूर्णिमा की सुबह जल्दी नहाकर घर के मुख्य द्वार पर हल्दी मिश्रित जल से स्वास्तिक बनाएं। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

आम के पत्तों का तोरण लगाएं

घर के मेन गेट पर आम के पत्तों से तैयार तोरण लगाएं। मान्यता है कि इससे धन की देवी लक्ष्मी की असीम कृपा बरसती है।

गंगा घाट पर दीपदान करें

इस दिन देव दीपावली भी मनाई जाती है। इसलिए कार्तिक पूर्णिमा के शुभ दिन पर गंगा घाट या अन्य पवित्र नदीपर दीप जलाएं। मान्यता है कि इससे देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलता है। इससे घर में सुख-समृद्धि, खुशहाली व शांति का वास होता है।

PunjabKesari

तुलसी के पास दीप जलाएं

कार्तिक मास में तुलसी पूजा व पौधे के पास दीपक जलाना शुभ माना जाता है। इसलिए पूर्णिमा की शाम को तुलसी के पास दीपक जरूर जलाएं। कहा जाता है कि तुलसी की जड़ की मिट्टी का तिलक लगाने से कार्यों में आ रही बाधाएं दूर होती है। नौकरी व कारोबार में तरक्की के रास्ते खुलते हैं।

शिवलिंग का पंचामृत से करें स्नान

कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरारी पूर्णिमा भी कहते हैं। ऐसे में इस दिन शिव जी की पूजा करने का भी विशेष महत्व है। इसलिए इस दिन दूध, दही, देसी घी, शहद और गंगा जल मिलाकर तैयार पंचामृत से शिवलिंग का अभिषेक करें। मान्यता है कि इस उपाय को करने से मनचाहा फल मिलता है।

PunjabKesari

 

Related News