20 MARWEDNESDAY2019 8:48:52 PM
Nari

1 आयुर्वेदिक नुस्खे से करें साइनस का इलाज

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 28 Feb, 2019 05:32 PM
1 आयुर्वेदिक नुस्खे से करें साइनस का इलाज

साइनस के मरीजों में सिर व चेहरे में भारीपन ,आंखों से पानी आना ,नाक बंद रहना व मुंह से सांस लेना और खराटे जैसी समस्या देखी गई हैं। ऐसे मरीजों के गले में रेशा गिरता रहता है। साइनस के मरीजों को 10-12 छींके, नाक से पानी आना ,कानों में भारीपन व आवाज भी आ सकती है। इसके अलावा साइनस के मरीजों को असमय बाल सफेद होना व उनका झड़ना जैसी प्रॉबल्म की शिकायत रहती हैं। 

 

साइनस के लक्षण

साइनस के मरीज में रेशा सिर में एकत्र हो जाता है, जिससे सिर में भारीपन व दर्द, आंखों में भारीपन व पानी निकलना जैसे लक्षण दिखाई देते है। अगर रेशा मुंह व गालों में एकत्र हो तो चेहरे पर सूजन, भारीपन व दर्द होता है। ऐसे मरीजों के दांत व मसूड़ों में भी भारीपन और दर्द रहता है।

PunjabKesari

20 साल से साइनस का इलाज कर रहे हैं डॉक्टर्स

आरोग्यम में साइनस का जड़ से आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज हो रहा है और लाखों लोगों ने साइनस से हमेशा के लिए मुक्ति पाई है। साइनस का एलोपैथी में कोई पक्का इलाज नहीं है लेकिन स्टीरियडस से लंबे समय तक इलाज किया जाता है जिससे शरीर फूलता है और गुर्दे व लिवर पर दुष्प्रभाव पड़ता है। आरोग्यम आयुर्वेदिक एलर्जी हस्पताल के डॉक्टर्स 20 साल से साइनस का आयुर्वेदिक तरीको से इलाज कर रहे है, जिनको विश्व स्तर के वैज्ञानिकों द्वारा मान्यता मिली है।

 

आरोग्यम के डॉक्टर्स को एलर्जी के क्षेत्र में उतम कार्य करने पर कैबनिट मंत्री नवजोत सिंह द्वारा भी सम्मानित किया गया है। याद रहे यह वही आरोग्यम के डॉक्टर्स है, जिन्होंने एलर्जी के क्षेत्र में अपनी रिसर्च दिखा कर जर्मनी के कॉन्फ्रेस में बैठे वैज्ञानिकों को आश्चर्य चकित कर दिया था। यूरोप के सभी अखबारों में उनका आर्टिकल छपा था।

 

साइनस का घरेलू नुस्खा

सुबह उठकर गाय के देसी घी की नाक में दो-दो बूदें डालने से साइनस से छुटकारा मिलता है। साथ ही इससे उम्र से पहले सफेद बाल, हेयर फॉल बंद और दिमाग तेज होता है। अगर आपको साइनस है तो जड़ से इलाज कराने के लिए आरोग्यम के डॉक्टर्स से संपर्क कर सकते है।

PunjabKesari

आरोग्यम आयुर्वेदिक सेंटर (डॉ. सतनाम सिंह) 

Related News

From The Web

ad