17 SEPTUESDAY2019 5:55:04 AM
Nari

बचपन में ही लाठी के सहारे चलने को मजबूर है ये बच्चे

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 12 Sep, 2019 05:52 PM
बचपन में ही लाठी के सहारे चलने को मजबूर है ये बच्चे

आज बड़े ही नही बच्चे भी अपनी सेहत के हमेशा ध्यान रखते है। कोई भी नही चाहता है कि बुढ़ा दिखे या उनकी त्वचा या सेहत पर कोई ऐसा असर हो जिससे उसकी असली उम्र दिखाई दे। आज 50 की उम्र में भी व्यक्ति 30 का ही दिखना चाहता है लेकिन प्राकृति के कारण बचपन में ही बुढ़े नजर आने लगे तो आप क्या करेगें। ऐसी ही एक परिवार के सदस्य है जिनके बच्चे छोटी उम्र में ही बूढ़े दिखाई देेने लगे है वह लाठी के सहारे चलने के लिए मजबूर हैं। 

PunjabKesari. Nari

एक- एक करके सभी सदस्य हो रहे है बीमार 

जौनपुर जिले के मुंगरा बादशाहपुर इलाके के लोगों में अजीबो गरीब बीमारी हो रही हैं। यहां के फत्तूरपुरकला गांव की दलित बस्ती में दो परिवारों में 28 लोग रहते हैं। इस बीमारी के चलते बच्चे कम उम्र में ही 50 से ऊपर के नजर आने लगे हैं। इतना ही नही बच्चों के हाथ पैर व कमर टेढ़ी- मेढ़ी हो जाती है। इतना ही नही वह इस कारण लाठी के सहारे चलने के मजबूर हो चुके है। इस बीमारी को लेकर लोग अपने जिले व आसपास के अस्पतालों में भी दिखा चुके है लेकिन उनके पास इसका कोई इलाज नही है, क्योंकि उन्हें इस बीमारी के बारे में ही समझ नही आ रहा हैं।  

PunjabKesari,Nari

इलाज न होने के कारण परिवार में फैलती जा रही बीमारी 

आर्थिक दशा ठीक न होने के कारण वह किसी बड़े अस्पताल में जाकर इलाज भी नही करवा सकते हैं। यह बीमारी एक- एक करके परिवार के सदस्यों में फैलती जा  रही हैं। परिवार के सदस्यों द्वारा इस मामले में प्रशासन से भी मदद मांगी गई थी लेकिन अभी तक उन्हें किसी भी तरह की मदद नही मिली हैं। इस परिवार के सदस्य बड़ी मुश्किल से मजदूरी कर अपना पेट भरते है। 

Related News