23 OCTWEDNESDAY2019 1:21:04 AM
Nari

एक ठेले से की थी शुरुआत, आज है 14 आउटलेट्स, रोजाना कमा रही हैं 2 लाख

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 19 Jun, 2019 07:20 PM
एक ठेले से की थी शुरुआत, आज है 14 आउटलेट्स, रोजाना कमा रही हैं 2 लाख

उतार चढ़ाव जीवन का हिस्सा है,जो इन उतार चढ़ावों से न घबरा कर इनसे लड़ते हुए जिदंगी में आगे बढ़ता है वहीं जिदंगी में एक मुकाम को हासिल कर सकता हैं। इसी जज्बे व साहस की उदाहरण है चेन्नई की पेट्रीसिया नारायण। जिन्होंने अपनी नई जिदंगी की शुरुआत मरीना बीच पर कॉफी व कटलेट बेच कर 50 पैसे की कमाई के साथ की थी। अब उनकी एक दिन की कमाई दो लाख तक पहुंच चुकी हैं। अपने इस चुनौतीपूर्ण सफर को उन्होंने किस तरह से आसान बनाया, आज आपको रुबरु करवाते है उनकी कहानी से 

मरीना बीच से लेकर खुद के रेस्टोरेंट तक का सफर किया तय 

मरीना बीच के बाद पेट्रीसिया ने स्लम क्लियरेंस बोर्ड और नेशनल मैनेजमेंट ट्रेनिंग स्कूल में कैंटीन शुरु की। इससे उनकी कमाई में काफी बढ़ोतरी हुई। इसके बाद धीरे धीरे उन्होंने संदीपा नाम के रेस्टोरेंट की शुरुआत की। जिसके इस समय 14 आउटलेट्स हैं। शुरुआत में 2 कर्मचारियों के साथ काम करने वाली पेट्रीसिया के पास 200 कर्मचारी हैं। उनकी खुद की रेस्टोेरेंट चेन चल रही हैं। 

बेटी की मौत ने किया प्रभावित 

जब बिजनेस अच्छा चल रहा था, 2003 में अपनी बेटी की शादी कर दी, बेटे प्रविण ने मर्चेंट नेवी ज्वाइंन कर ली। बेटी की शादी के बाद वह रेस्टोरेंट खोलने की तैयारी कर रही थी कि इसी बीच बेटी व दमाद की मृत्यु हो गई,जिसने उन्हें बुरी तरह से तोड़ कर रख दिया। वह खुद अपने काम से दूर होने लगी लेकिन बेटे प्रवीण कुमार ने जिम्मेदारी संभालते हुए अपनी बहन की याद में ‘संदीपा’ नाम से पहले रेस्टॉरेंट की शुरूआत की। 

PunjabKesari

50 पैसे से 2 लाख पर पहुंची कमाई 

1982 में मरीना बीच पर कॉफी व कटलेट बेच कर पेट्रीसिया  50 पैसे की कमाई करती थी, इससे उन्हें काफी निराशा हुई। लेकिन उन्होंने इससे हार न मान कर इसका सामना किया। उसके बाद लगातार मेहनत के बाद 2003 तक उनकी कमाई 25 हजार  तक पहुंच गई, इस समय इनकी प्रति दिन के मुताबिक 2 लाख तक पहुंच गई हैं। 

शादी के लिए परिवार से तोड़ा रिश्ता 

ईसाई परिवार से संबंध रखने वाली पेट्रीसिया ने 17 साल की उम्र में घरवालों की फर्जी के खिलाफ जा कर दूसरे धर्म के लड़के के साथ शादी कर ली। उसके बाद पिता ने उससे सारे रिश्ते तोड़ दिए, लेकिन उसे लगा था कि शादी  के बाद उसे सारी खुशियां मिलेगीं। लेकिन उनका यह फासला गलत साबित हुआ, उसका पति ड्रग एडिक्ट था। उसने नौकरी छोड़ दी, उस पर अत्याचार करने लगा। इसके बाद दो बच्चों को अपने साथ ले जाकर रिश्ता खत्म करना ही बेहतर समझा। लेकिन उसके बाद मुश्किल बात यह थी कि वह जाती कहां, क्योंकि पिता से सारे रिश्ते पहले ही तोड़ चुकी थी। 

PunjabKesari

बदली खुद की जीवन शैली

पेट्रीसिया ने मानना है कि इस संघर्ष ने उसकी जीवन शैली को काफी बदल दिया हैं। उसकी यात्रा एक साइकिल रिक्शा से हुई थी, फिर ऑटो रिक्शा अब खुद की गाड़ी तक पहुंच गई हैं। एक वक्त ऐसा आ गया था जब मुझे जीवन या मरने दोनो में से किसी एक को चुनना था, लेकिन तब जीवन को चुना। अब जीवन का एक ही लक्ष्य है कि हमारे रेस्टोरेंट से सबके घरों में अच्छी क्वालिटी का ही खाना पहुंचे, खाने की क्वालिटी को लेकर किसी भी तरह का समझौता न किया जाए। 

Related News