Twitter
You are hereNari

Health Alert: कैंसर का कारण बन सकता है मूंग और मसूर दाल का सेवन

Health Alert: कैंसर का कारण बन सकता है मूंग और मसूर दाल का सेवन
Views:- Sunday, October 28, 2018-5:25 PM

मूंग या मसूर की दाल अनाज में सबसे ज्यादा पौष्टिक मानी जाती है। दिन का लंच हो या फिर रात का डिनर, भारतीय भोजन में इनका अहम हिस्सा है। मगर अब आपको थोड़ा सतर्क होने की जरूरत है क्योंकि जिस दाल को आप हेल्दी समझकर खा रहे हैं वह सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है। जी हां, फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) की नई रिसर्च के मुताबिक, मूंग और मसूर की दाल खाने से लोगों की जान को खतरा हो सकता है।

 

बाहर से आने वाली दाल है जहरीली
FSSAI की रिपोर्ट के मुताबिक, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया से आने वाली मूंग और मसूर दाल में ग्लाइफोसेट नामक कैमिकल मौजूद होता है। इस कैमिकल का इस्तेमाल फसल को चूहों से बचाने के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में दालों की उत्पादन उच्च मात्रा में होता है इसलिए भारत में यह दालें वहीं से मंगवाई जाती है।

PunjabKesari

FSSAI ने लोगों को दी चेतावनी
रिसर्च के मुताबिक, इन दालों में मौजूद जहरीले कैमिकल्स धीरे-धीरे शरीर को नुकसान पहुंचा रहे हैं। FSSAI ने लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि वह इन दोनों दालों को डेली न खाएं। वहीं, इन दालों को एक साथ खाना भी सेहत के लिए हानिकारक है इसलिए इन दालों के बीच गैप रखें। दालों में हर्बीसाइड ग्लाइफोसेट का स्तर बहुत ज्यादा होने की आशंका है, जिससे खाने वाले की सेहत पर बुरा असर हो सकता है।

WHO भी दे चुका बंद करने की सलाह
हर्बीसाइड ग्लाइफोसेट को कुछ साल पहले तक सुरक्षित माना जा रहा था। मगर हाल ही में WHO ने एक एडवाइजरी जारी करते हुए लोगों से अपील की है कि वे इसका सेवन बंद कर दें कि क्योंकि इसमें कैंसर पैदा करने के तत्व पाए जाते हैं। WHO की रिपोर्ट के मुताबिक, ग्लाइफोसेट से शरीर में जरूरी पोषक तत्वों का अवशोषण होना बंद हो जाता है। वहीं, इससे गुर्दा तक काम करना बंद कर देते है।

PunjabKesari

कैंसर जैसी बीमारियों का रहता है खतरा
-इससे पेट दर्द, इन-डाइजेशन और कब्ज जैसी बीमारियों का होना आम है।
-मसूर और मूंग की दाल से सोचने-समझने की शक्ति कम हो सकती है। साथ ही इससे भूलने और  अल्जाइमर जैसी बीमारियां भी हो सकती है।
-इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से किडनी प्रॉब्लम का खतरा भी बढ़ जाता है।
-गर्भवती महिलाएं भी इन दालों से दूर रहें। इससे भ्रूण में पल रहे बच्चे पर बुरा असर हो सकता है।
-इन दालों में यूज होने वाले कैमिकल शरीर को धीरे-धीरे नुकसान पहुंचाते हैं, जिससे कुछ समय बाद शरीर के एक हिस्सा को कैंसर हो सकता है।

PunjabKesari


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by:

Latest News