21 FEBFRIDAY2020 7:05:59 PM
Nari

9 दिनों तक जिंदा रह सकता है कोरोना वायरस, जानिए खात्मे के तरीके

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 14 Feb, 2020 01:48 PM
9 दिनों तक जिंदा रह सकता है कोरोना वायरस, जानिए खात्मे के तरीके

दुनियाभर में फैले जानलेवा कोरोना वायरस ने कोहराम मचा रखा है। चीन के वुहान शहर से शुरु हुए इस वायरस के चलते कई लोग अपनी जान भी गवां चुके हैं। वहीं, इससे संक्रमण के 44 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। ये वायरस अब तक दुनिया के 29 देशों में दाखिल हो चुका है। दुनियाभर में फैल इस वायरस का इलाज ढूंढने के लिए वैज्ञानिक दिन-रात कोशिश कर रहे थे और लगता है कि उनकी कोशिश कामयाब भी हुई।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस वायरस को 'कोविड-19' (COVID 19) नाम दिया है। को - कोरोना, वि- वायरस, डी - डीजीज। ऐसा इसलिए क्योंकि, पहली बार इसकी पहचान 2019 में की गई।

9 दिन तक शरीर में जिंदा रहता है कोरोना वायरस

यही नहीं, विशेषज्ञों ने मिलकर कोरोना वायरस पर एक स्टडी भी की है, जिसमें उन्होंने करीब 22 अध्ययनों के आंकड़ों का विश्लेषण किया। इसमें चौंकाने वाली बात यह पता चली की, ये वायरस अन्य फ्लू की तुलना में करीब 4 गुना ज्यादा लंबे समय तक जिंदा रह सकते हैं। आमतौर पर फ्लू के वायरस 2-3 दिनों तक जिंदा रहते हैं लेकिन इस वायरस में ऐसा नहीं होता।

PunjabKesari

कैसे फैलता है वायरस?

यह इंफैक्शन सिर्फ इंसानों के संपर्क में आने से ही नहीं बल्कि निर्जीव वस्तुओं को छूने से भी फैलता है। लकड़ी, गिलास, प्लास्टिक या धातु से बनी चीजों पर यह वायरस 9 दिनों तक जिंदा रह सकते हैं। वहीं 4 डिग्री या उससे कम तापमान में तो ह जानलेवा वायरस 1 महीने से भी ज्यादा समय तक जीवित रह सकते हैं। जबकि 30 डिग्री या इससे ज्यादा तापमान में इनके जिंदा रहने की क्षमता कम हो जाती है।

कैसे मरते हैं कोरोना वायरस?

विशेषज्ञों ने बताया कि इसवायरस को डिसइंफेक्टेंट की मदद से खत्म किया जा सकता है। अल्कोहल से इस 1 मिनट में खत्म किया जा सकता है। वहीं ब्लीच की मदद से इसे महज 30 सेकेंड में मारा जा सकता है। निर्जीव चीजों को इनकी मदद से साफ करने वायरस से बचा जा सकता है।

PunjabKesari

कितनी देर में फैलता है संक्रमण?

एक्सपर्ट के मुताबिक, इंसानों से किसी स्वस्थ व्यक्ति में यह वायरल 15 सेकेंड में फैल सकता है। वहीं निर्जीव वस्तुओं से इंसानों में यह कितनी देर लगाता है अभी इसका पता नहीं चल पाया है।

हवा से भी फैल रहा है इंफैक्शन

रिपोर्ट के मुताबिक, यह हवा के जरिए भी फैल रहा हैष इसे एयरोसोल ट्रांसमिशन कहा जाता है। एयरोसोल ट्रांसमिशन का मतलब है कि वो हवा में मौजूद सूक्ष्म बूंदों के साथ मिलकर इंफैक्शन फैला रहे हैं। ऐसे हालात में हवा में सांस लेने पर भी इंफैक्शन हो सकता है। ऐसे में लोगों को मास्क पहने रखने की सलाह दी जा रही है।

कैसे करें बचाव?

1. WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने दुनियाभर में सलाह जारी की है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए लोग लगातार अल्कोहल से हाथ धोएं।
2. अधिसूचना में सलाह के तौर पर कुछ बातों का वर्णन किया गया जैसे, व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखना, मास्क पहनना, बीमार लोगों से संपर्क से बचने की एहतियात बरतने के लिए कहा गया है।

PunjabKesari

इंफैक्शन के लक्षण?

कोरोना वायरस से निपटने के लिए अभी किसी भी तरह का वैक्सीन उपलब्ध नहीं है लेकिन इसके इलाज के लिए वैक्सीन तैयार करने की बात की जा रही है।

. तेज बुखार व सिरदर्द
. जुकाम, सूखी खांसी
. सांस लेने में दिक्कत
. किडनी फेल
. लक्षण दिखने पर तुरंत चेकअप करवाएं।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News