26 AUGMONDAY2019 3:35:01 AM
Nari

बार-बार निकल रहे हैं पिंपल्स, कहीं गड़बड़ा तो नहीं गया चेहरे का Ph Level?

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 11 Feb, 2019 11:48 AM
बार-बार निकल रहे हैं पिंपल्स, कहीं गड़बड़ा तो नहीं गया चेहरे का Ph Level?

क्या आपके चेहरे पर भी बार-बार फोड़े-फुंसी निकल रहे हैं? कहीं आपके चेहरे का पीएच लेवल तो नहीं बिगड़ गया है। जी हां, सिर्फ बॉडी ही नहीं बल्कि चेहरे का भी पीएच लेवल होता है, जो अगर बिगड़ जाए तो डलनेस, झुर्रियां, पिंपल्स और फोड़े-फुसिंयों की समस्या होने लगती हैं। चलिए आपको बताते हैं कि चेहरे का पीएच लेवल कितना होना चाहिए और किस तरह संतुलित रखा जाए।

 

क्‍या है Ph लेवल?

पीएच का मतलब होता है- पावर ऑफ हाइड्रोजन। इसे पोटेंशियल ऑफ हाइड्रोजन भी कहा जाता है यानी हाइड्रोजन की शक्ति या हाइड्रोजन का सामर्थ्य। हाइड्रोजन के अणु किसी भी वस्तु में उसकी अम्लीय (एसिडिक) या क्षारीय (बेसिक) प्रवृत्ति को तय करते हैं।

 

कितना होना चाहिए त्वचा का Ph लेवल?

एक्सपर्ट के अनुसार त्वचा का पीएच (Ph) लेवल 4.4-5.5 के बीच होना चाहिए। अगर ये 5 से कम या ज्यादा हो जाए तो फोड़े या फुंसी और मुंहासों जैसी समस्‍या बढ़ने लगती हैं। पीएच लेवल संतुलित होने पर चेहरे की नमी बरकरार रहती है साथ ही इससे बैक्टीरिया भी त्वचा पर हमला नहीं कर पाते।

 

त्वचा का Ph लेवल संतुलित रखने के टिप्स

 

एसिडिक फूड्स का कम सेवन

हाई सोडियम फूड्स प्रोसेस्ड फूड्स, एडिड शुगर, फ्राइड फूड्स, पीनट्स, कैफीन और अल्कोहल आदि से परहेज करें क्योंकि ये त्वचा का पीएच लेवल बिगाड़ देते हैं।

 

सुबह पीएं नींबू पानी

हालांकि नींबू एक एसिडिक खाद्य पदार्थ है लेकिन इसमें मौजूद अन्य पोषक तत्व त्वचा के पीएच लेवल को संतुलित रखते हैं। ऐसे में आप सुबह 1 गिलास पानी में 1/2 नींबू मिलाकर जरूर पीएं। इससे त्वचा हाइड्रेटेड भी रहेगी और साथ ही पीएच संतुलन भी बना रहेगा।

PunjabKesari, lamon water image

 

चुनें सही फेसवॉश

अगर पीएच लेवल सही हो तो त्वचा में नमी भी बनी रहती है। मगर क्षारीय साबुन त्वचा का पीएच लेवल बिगाड़ देते हैं, जिससे त्वचा में रूखापन, खुजली और मुंहासे होने लगते हैं। ऐसे में जरूरी है कि प फेसवॉश या साबुन चुनते समय थोड़ी सावधानी बरतें, ताकि त्वचा को कोई नुकसान न हो।

 

हरी सब्जियों का सेवन करें

त्वचा के स्वस्थ सेल्स को एल्कालाइन आहार की जरुरत होती है जबकि अस्वस्थ सेल्स को एसिडिक आहार की। ऐसे में हरी सब्जियां, जूस और कच्चे खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में शामिल करें। इसके अलावा नट्स, बीज, स्प्राउट्स आदि का सेवन भी त्वचा के पीएच बैलेंस को बनाएं रखने में मदद करेगा।

PunjabKesari,green vegetables image

Related News

From The Web

ad