30 MARMONDAY2020 6:42:17 AM
Nari

बीमारी के चलते बढ़ गया था जूही परमार का वजन, यूं किया कम

  • Edited By Harpreet,
  • Updated: 17 Dec, 2019 10:53 AM
बीमारी के चलते बढ़ गया था जूही परमार का वजन, यूं किया कम

थायराइड एक ऐसी समस्या है जिससे आज हर तीसरी से चौथी महिला पीड़ित है। बात थोड़ी तब सीरियस हो जाती है जब थायराइड की प्रॉबल्म कम उम्र की महिलाओं में देखने को मिल रही है। इस बीमारी से तो खुद को हमेशा फिट एंड फाइन रखने वाली टी.वी. एक्ट्रेसिस भी नहीं बच पाईं। जी हां हम बात करने जा रहे हैं कुमकुम भाग्य का मेन रोल प्ले करने वाली एक्ट्रेस जूही के बारे में।

Related image,nari

बिग बॉस सीजन 5 में अपनी छाप छोड़ने वाली जूही परमार उस शो के बाद किसी सीरियल या फिर Reality Show में बहुत कम देखने को मिली हैं। असल में हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान जूही ने बताया कि वह थायराइड का शिकार होने की वजह से टी.वी. लाइफ से थोड़ा दूर रह रही थी, क्योंकि इसकी वजह से उन्होंने बहुत अधिक Weight Gain कर लिया था। इसी के साथ जूही ने ये भी बताया कि कभी न ठीक होने वाली इस समस्या को उन्होंने कैसा हैंडल किया। आइए जानते हैं हम भी...

कैसे पता चला बीमारी के बारे में...

जूही ने इंटरव्यू में बताया कि उनका वजन एक दम से बढ़ गया। 2 से 3 महीने में ही जूही का वजन 15 से 17 किलोग्राम बढ़ गया था। अपने बढ़ते वजन को देख जूही ने अंदाजा लगाया कि एक दम से इतना वजन बढ़ना आम बात नहीं है। वजन बढ़ने के साथ जूही को ब्लोटिंग (पेट फूलने) और स्वेलिंग (सूजन) जैसी समस्याओं का भी सामना करना पड़ता था।

 

जूही ने यह भी बताया कि उनका स्वभाव भी काफी चिड़चिड़ा हो गया था। वह हमेशा थका-थका महसूस करती थी। साथ ही उन्होंने अपनी आवाज में भी हल्का भारीपन महसूस किया। उसके बाद उन्होंने डॉक्टर से संपर्क किया। जूही में आए बदलाव को देख और सुनकर डॉक्टर ने उन्हें थायराइड टेस्ट करवाने की सलाह दी। जहां से जूही को पता चला उन्हें काफी हाई लेवल का थायराइड हो चुका है। जिस वजह से उनकी सेहत दिन प्रतिदिन डाउन जाई जा रही है।

कैसे किया कंट्रोल

जूही बताती हैं कि थायरॉइड का पता चलने पर उन्हें डर तो लगा मगर जल्द ही उन्होंने इस सच्चाई को स्वीकार किया और इसका इलाज शुरू किया। वो बताती हैं, "डॉक्टर के पास जाने पर आपके थातरॉइड लेवल के हिसाब से डॉक्टर आपको दवाएं देते हैं। सुबह सबसे पहले आपको खाली पेट 1 दवा खानी पड़ती है। दिन की शुरुआत दवाई से करना अच्छा नहीं है, मगर ये दवा आपके थायरॉइड को कंट्रोल करती है। मैं बिना किसी गड़बड़ी के रोजाना अपनी दवा समय पर लेती थी।"

Image result for juhi parmar,nari

रेगुलर मेडीसन

थायराइड का पता चलते ही जूही ने डॉक्टर से इस प्रॉबल्म से रिलेटिड सारी जानकारी हासिल की। उन्होंने बताया कि डॉक्टर द्वारा बताई गई मेडिसन को वह पूरी तरह फॉलो करती थीं। कहीं न कहीं हररोज सुबह उठकर खाली पेट दवा खाना उन्हें बुरा भी लगता था मगर इसके बावजूद वह दवा जरुर लेती थी।

जूही ने थायराइड को फेस करने के साथ-साथ इस बारे में बहुत ज्यादा जानकारी भी हासिल की। अब वह अपनी एकत्रित की हुई जानकारी से अन्य महिलाओं को इस बीमारी के बारे में अगाह करती हैं। जूही के अनुसार... थायराइड के बहुत ज्यादा चांसिस प्रेगनेंसी के दौरान होते हैं। ऐसे में इस दौरान महिलाओं को अपना रुटीन में चेकअप करवाते रहना चाहिए। ताकि समय रहते इस प्रॉबल्म से बचा जा सके।

जूही ने यूं घटाया अपना वजन

जूही के अनुसार, "मैंने एक्सरसाइज शुरू किया। मगर हाइपोथायरॉइडिज्म में आप जब एक्सरसाइज करते हैं, तो आपको रेगुलर एक्सरसाइज से कम फायदे मिलते हैं, क्योंकि आपका मेटाबॉलिज्म कमजोर हो जाता है। मैं रेगुलर एक्सरसाइज करती रही।" इस तरह फिजिकल एक्टिव रहने की वजह से उन्होंने अपना वजन बहुत आसानी से घटा लिया।

Related image,nari

थायरॉइड के दौरान कैसा होना चाहिए खानपान

जूही के मुताबिक इस प्रॉबल्म के दौरान आप जितना घर का बना खाना खाएंगे उतना आपके लिए बेहतर होगा। मगर थायरॉइड में आपको फ्राईड फूड्स, बटर, ब्रोकली, गोभी, पत्तागोभी, सोयाबीन्स, टोफू आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा आपको ग्लूटेन-फ्री आहार खाने चाहिए।ग्लूटेन-फ्री आहार में मक्की का आटा सबसे बेस्ट ऑप्शन है।

स्ट्रेस से बचें

जूही के मुताबिक थायराइड से बचने के लिए जितना हो सके उतना कम स्ट्रेस लें। साथ ही अगर आप इसके शिकार हो भी जाती हैं तो उस दौरान स्ट्रेस लेने की बजाय इस प्रॉबल्म से लड़ने का उपाय ढूंढे। डॉक्टर के अनुसार बताई गई दवाई लें, रुटीन में सैर करें और अपने खान-पान पर खास ध्यान दें।

Image result for juhi parmar,nari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News