Twitter
You are hereNari

Paralysis Attack के तुरंत बाद करें ये काम, बच जाएगी रोगी की जान

Paralysis Attack के तुरंत बाद करें ये काम, बच जाएगी रोगी की जान
Views:- Monday, January 22, 2018-11:21 AM

लकवा का रामबाण इलाज : बढ़ती उम्र और बिगड़ते लाइफस्टाइल के कारण लोगों में बीमारियों का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। 50 की उम्र में लोगों को लकवा मारने का सबसे ज्यादा डर होता है। पैरालिसिस के नाम से पहचानी वाली लकवा मारने की समस्या वैसे तो 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को होती है लेकिन गंभीर बीमारी के कारण लोगों को यह समस्या कम उम्र में भी हो जाती है। शरीर के किसी हिस्से में खून का थक्का जमने के कारण कोशिकाओं और मस्तिष्क में रक्तप्रवाह रूक जाता है, जिसके कारण यह समस्या हो जाती है। लकवा मारने पर इंसान के शरीर का वो हिस्सा काम करना बंद कर देता है। अगर समय रहते रोगी का इलाज कर दिया जाए तो इससे छुटकारा पाया जा सकता है। आज हम आपको बताएंगे कि लकवा मारने पर तुरंत क्या उपाय करने से रोगी को इस समस्या से बचाया जा सकता है।  घरेलू तरीकों से करें लकवे का इलाज

PunjabKesari

लकवा मारने के उपाय


1. तिल का तेल
पैरालिसिस अटैक आने पर मरीज को तुरंत 100 मि.ली. तिल के तेल को गर्म करके खिलाएं और उसके बाद 5-6 लहसुन की कलियां चबाने के लिए दें। इसके बाद उसके अटैक वाले हिस्सें को तेल में काली मिर्च पकाकर वहां की मालिश करें।

PunjabKesari

2. शहद और लहसुन
अटैक आने के बाद मरीज को तुरंत शहद और लहसुन मिलाकर चटाएं। ऐसा करने से प्रभावित अंग स्वस्थ हो जाएगा। लकवा मारने के कुछ दिनों तक मरीज को इसका सेवन करवाते रहें।

PunjabKesari


फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Latest News