28 MARSATURDAY2020 9:23:03 PM
Life Style

कोरोनावायरस को ' चीनी वायरस ' न कहें, इसे हमने नही बनाया : बीजिंग प्रवक्ता

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 26 Mar, 2020 05:12 PM
कोरोनावायरस को ' चीनी वायरस '  न कहें, इसे हमने नही बनाया : बीजिंग प्रवक्ता

कोरोनावायरस आने के बाद लोगों ने जिस तेजी से इस वायरस की खबरें फैलाई उतनी ही तेजी से लोगों ने इस का नाम भी बदल डाला था। बहुत सारे लोगों ने कोरोनावायरस को नाम दिया हैशटेग चाइना वायरस जिसके चलते बुधवार को चीन ने ये सख्त शब्दों में कहा कि इसका नाम कोरोनावायरस है और चीन ने इसे न तो बनाया है न ही इसको जानबूझकर प्रसारित किया है और इस तरह के शब्द इस्तेमाल करना अच्छा नही है। 

Image result for coronavirus

भारत में चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को "चीनी लोगों को ढांढस बंधाने" की बजाय महामारी पर चीन की '' त्वरित प्रतिक्रिया '' पर ध्यान देना चाहिए , जी ने भारत की बात करते हुए कहा कि दोनों देशों ने संचार बनाए रखा है और कठिन समय के दौरान महामारी का सामना करने में एक-दूसरे का समर्थन किया है।

जी ने कहा कि हमें पता है कि डब्ल्यूएचओ ने जोर देकर कहा कि चीन और वुहान को वायरस से जोड़ने पर जोर दिया जाना चाहिए लेकिन जो लोग चीन के प्रयासों को कलंकित करने का प्रयास कर रहे हैं, उन्होंने चीनी लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा की रक्षा में किए गए भारी बलिदानों की अनदेखी की है।

Image result for images of whuan people

उन्होंने कहा कि हालांकि चीन में वुहान शहर ने सबसे पहले प्रकोप की सूचना दी थी, इस बात का कोई सबूत नहीं है कि चीन वायरस का स्रोत है जो और इस बात का भी कोई सबूत नही है कि हमने ये वायरस फैलाया।

"चीन ने न तो वायरस बनाया है और न ही जानबूझकर इसे प्रसारित किया है। तथाकथित 'चीनी वायरस' बिल्कुल गलत है," उन्होंने कहा।

 चीन ने COVID -19 को "वुहान वायरस" के रूप में ब्रांड करने के लिए अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ की निंदा की थी,विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की स्पष्ट सहमति है कि वायरस को किसी विशिष्ट देश, क्षेत्र या जातीय समूह से नहीं जोड़ा जाना चाहिए और इस तरह के कलंक को खारिज किया जाना चाहिए।

Related News