16 OCTWEDNESDAY2019 11:50:03 PM
Nari

Periods रोकने के लिए खाती हैं दवा तो जाए सावधान, होंगे 8 बड़े नुकसान

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 03 Apr, 2019 06:23 PM
Periods रोकने के लिए खाती हैं दवा तो जाए सावधान, होंगे 8 बड़े नुकसान

महिलाओं को आमतौर पर 24 दिनों बाद हर महीने पीरियड्स के दर्द से गुजरना पड़ता है। महिलाएं इनसे तब परेशान हो जाती हैं जब उन्हें बेवक्त इसका सामना करना पड़ता है ऐसा तभी होता है जब उन्हें कहीं ट्रिप, काम या शादी में जाना हो। ठीक पहले पीरियड्स आने से सारा प्लेन ही बिगड़ जाता है। इस दौरान ज्यादातर महिलाओं को दर्द, चिड़चिड़ापन और कमजोरी महसूस होती हैं। ऐसे में फंक्शन्स को अच्छे से एंजॉय करने के लिए बहुत सी औरतें दवाइयों का सेवन कर लेती हैं ताकि पीरियड्स डेट को आगे बढ़ा दिया जाए। कभी-कभार तो ठीक है लेकिन अगर आप हर बार ऐसा करती हैं तो यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। 

 

पीरियड्स आने का सही समय

आमतौर पर पीरियड साइकिल 24 दिनों की होती है पर डॉक्टर्स मानते हैं कि 28 से 38 दिनों के बीच में पीरियड्स होते हैं तो ये भी नॉर्मल है। एक या दो बार तो ठीक हैं लेकिन हर बार लेट आने पर डॉक्टर से सम्पर्क जरूर करें।  अगर आप खुद जानबूझ कर इसकी डेट को आगे बढ़ा देते हैं तो जरा संभल जाएं।

पीरियड्स रोकने वाली दवाइयों के साइड इफेक्ट्स

अनियमित पीरियड्स

अगर आप पीरियड्स को आगे बढ़ाने वाली दवाइयां ले रही हैं तो इससे आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती हैं। दरअसल, जब 28-30 दिन का चक्र बिगड़ता है तो ओव्‍यूलेशन में गड़बड़ हो जाती हैं जो महिलाओं की प्रजनन प्रणाली पर इफैक्ट डालती हैं।

PunjabKesari

 

हैवी ब्लीडिंग

कई बार इन दवाइयों के सेवन से भी पीरियड्स शुरू होने का खतरा बना रहता है। इतना ही नहीं शरीर को नुकसान भी होता है। दरअसल पीरियड्स बंद करने वाली दवाइयों के सेवन से कई महिलाओं को हैवी ब्लीडिंग होने लगती हैं और बहुत ज्यादा दर्द होता है।

 

मोटापे और डायबिटीज

अगर आपकी उम्र 30 साल से ज्यादा है और आपको डायबिटीज या मोटापे की शिकायत है तो आपको इन दवाइयों के सेवन से बचना चाहिए। दवाइयां इन परेशानियों को कई गुणा बढ़ाने का काम करती है। 

 

दस्त या उल्टी की समस्या

पीरियड्स में दवाइयां लेने से पेट से जुड़ी कई तरह की परेशानियां जैसे दस्त, उल्टी की समस्या ज्यादा बढ़ जाती है और बाद में अनियमित पीरियड्स की वजह से चक्कर आना, कमजोरी जैसी प्रॉब्लम्स भी पैदा हो जाती है।

PunjabKesari

 

हॉर्मोन इम्बलेंस होने का खतरा

बार-बार पीरियड्स को रोकने के लिए दवाइयां लेने से हार्मोन इम्बलेंस हो जाते हैं जिसके कारण पीरियड्स 2 महीने या इससे भी ज्यादा समय के बाद आना शुरु हो जाते हैं। ऐसे में जितना हो सकें इनके सेवन से बचना चाहिए, वरना सेहत को भारी नुकसान हो सकता है। अगर आपको पीरियड्स के दौरान बहुत दर्द होता हैं तो दवाई खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 

माइग्रेन की दिक्कत

जिन महिलाओं को माइग्रेन या तेज सिर दर्द की शिकायत रहती है, उन्हें भी इन दवाइयों के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि यह आपके लिए और परेशानी खड़ी कर सकती हैं। अगर आप ये दवाइयां ले भी रही हैं तो पहले अच्छे डॉक्टर्स की सलाह लें। 

PunjabKesari

 

प्रेग्नेंसी कंसीव करने में मुश्किल

अगर आप प्रेग्नेंसी के बारे में सोच रही हैं तो पीरियड्स के दौरान दवाइयों का इस्तेमाल बिल्कुल ना करें। इनका सेवन प्रेग्नेंसी में अड़चने पैदा कर सकता है और डिलीवरी के दौरान हेवी ब्लीडिंग की परेशानी खड़ी हो सकती है जिससे मां और बच्चें की हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है।

 

अन्य साइड-इफैक्ट

अगर आपको खून के थक्के से जुड़ी समस्या हैं तो इन दवाइयों का सेवन ना करें क्योंकि यह आपकी इस परेशानी को बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा इनसे सेवन से स्तन दर्द, पेट में ऐंठन, पेट में गैस बनना, दिल की धड़कन अनियमित होना जैसे साइड इफैक्ट दिख सकते हैं।



 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News