16 APRFRIDAY2021 6:05:55 PM
Nari

कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर सो जातें हैं तो पहले जान लें आंखों को होने वाले 6 नुकसान

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 05 Mar, 2021 10:00 AM
कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर सो जातें हैं तो पहले जान लें आंखों को होने वाले 6 नुकसान

क्या आपको भी कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर सोने की आदत है? अगर हां तो बता दें कि लगातार ऐसा करने से आप पूरी तरह से अंधे भी हो सकते हैं। बेशक कॉन्टेक्ट लेंस लगाने से आपको मोटा चश्मा नहीं लगाना पड़ता लेकिन काॅन्टेक्ट लेंस लगाते समय की गई आपकी एक गलती इंफेक्शन के साथ कई गंभीर बीमारियों का खतरा भी बन सकती हैं। इसके कारण आंखों में अल्सर, सूखापन, ऑक्सीजन की कमी जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर सोना क्यों गलत?

एक्सपर्ट के मुताबिक, कुछ कॉन्टेक्ट लेंस ऐसे होते हैं जिन्हें पहनकर सोया जा सकता है लेकिन प्रदूषण और शुष्क मौसम के कारण इसे पहनकर सोना नहीं चाहिए। हालांकि सॉफ्ट कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर एक नैप ले सकते हैं लेकिन 10-12 घंटे की नींद नहीं।

PunjabKesari

कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर सोने से होने वाले नुकसान

1. ऑक्सीजन की कमी

आंखों के कॉर्निया को ऑक्सीजन चाहिए होती है लेकिन लेंस पहनकर सोने से इसका लेवल कम हो जाता है। इससे धुंधलापन, सूखापन और कई समस्याएं हो सकती हैं।

2. कॉर्नियल अल्सर

कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर सोने से इंफेक्शन हुआ तो उससे आंखों के कॉर्निया की लेयर खराब हो सकती है, जो धीरे-धीरे अल्सर का रूप ले सकता है। इससे परमानेंट अंधापन हो सकता है।

PunjabKesari

3. धुंधली रोशनी

कई बार कॉन्टेक्ट लेंस लगाकर सोने से आंखों में धुंधलापन, लालपन और ड्राईनेस हो सकती है। इसके कारण आपको माइक्रोबायल केराटिटिस का सामना भी करना पड़ सकता है।

4. आंखों में ड्राइनेस

लेंस आंसू को सोख लेते हैं, जिससे आंखों में सूखापन हो सकता है। इसके कारण आपको खुजली, लालपन, इरिटेशन जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

5. आई इंफेक्शन

सोते वक्त लेंस ठीक से नहीं टिकते जिससे वो कॉर्निया के साथ टकराते रहते हैं। इससे आंखों में ड्राईनेस बढ़ जाती है, जिससे इंफेक्शन हो सकता है। इससे आंखों में दर्द हो सकता है।

PunjabKesari

6. अक्नथामोईबा केराटिटिस इंफैक्शन

शोध के मुताबिक, कांटेक्ट लेंस का अधिक इस्तेमाल अक्नथामोईबा केराटिटिस इंफैक्शन भी दे सकता है, जिससे आंखो की रोशनी भी जा सकती है।

ऐसे लगाएं कॉन्टेक्ट लेंस

1. कांटेक्ट लेंस लगाते व उतारते समय हाथों को अच्छी तरह धोएं व सुखा लें। साथ ही ध्यान रखें कि इसका स्टोरेज केस को सॉलूशन से साफ करके सूखा रखें। 
2. तीन महीने बाद स्टोरेज केस को बदल दें और ज्यादा लंबे समय तक कंटेक्ट लेंस न पहनें लें। लेंस की गंदगी साफ करने के लिए भी उन्हें सॉल्युशन से धोएं।
3. सिलिकॉन कांटेक्ट लेंस आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इससे ऑक्सीजन का प्रवाह सही रहता है।
4. कांटेक्ट लेंस के इस्तेमाल से पहले दिशानिर्देशों को अच्छी तरह पढ़ लें।
5. लेंस लगाने के बाद पलकों को हिलाकर आंखें बंद करके खोलें। इससे लेंस पुतली में फिट हो जाएगा।

 

Related News