08 AUGMONDAY2022 10:13:57 PM
Nari

Health Tips: डाइजेशन सुधारे कब्‍ज भगाए, आप भी नहीं जानते होंगे छुहारे खाने के ये फायदे

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 24 Jan, 2022 12:16 PM
Health Tips: डाइजेशन सुधारे कब्‍ज भगाए, आप भी नहीं जानते होंगे छुहारे खाने के ये फायदे

सर्दियों से बचने की बात करें तो दिमाग में ड्राई-फ्रूट दिमाग ख्याल आता है, जो इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ शरीर को गर्माहट भी देते हैं। हम भी आज आपको ड्राई फ्रूट्स में से एक सूखा छुआरा खाने के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं जो सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। खजूर को सुखाकर छुहारे बनाए जाते हैं जो एनर्जी बूस्टर, विटामिन और खनिजों का पावरहाउस हैं। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि छुहारा खाने से सेहत को क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

एक दिन में कितने छुहारे खाने चाहिए?

एक्सपर्ट के अनुसार, हर दिन 2-3 से ज्यादा छुहारा नहीं खाना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर बहुत गर्म होती है इसलिए ज्यादा मात्रा में इसका सेवन नुकसान भी पहुंचा सकता है।

PunjabKesari

बेहतर पाचन क्रिया

छुहारा खाने से पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है और आप कब्ज, एसिडीटी जैसी समस्याओं से बचे रहते हैं। आप इसे दूध में उबालकर भी पी सकते हैं।

सर्दियों में फायदेमंद

सर्दियों में छुहारे वाला दूध पीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे इम्यूनिटी बूस्ट होती है और शरीर को गर्माहट भी मिलती है। इससे आप सर्दी-जुकाम, खांसी, गले में खराश जैसी समस्याओं से बचे रहते हैं।

पीरियड्स दर्द से आराम

छुहारे कैल्शियम और विटामिन सी का बढ़िया स्त्रोत है। पीरियड्स में छुहारे वाला दूध पीने से पेट की ऐठंन, कमर व पीठ दर्द से आराम मिलता है।

PunjabKesari

शुगर क्रेविंग में फायदेमंद

डायबिटीज मरीज मीठेपन की क्रेविंग को दूर करने के लिए छुहारा खा सकते हैं। इससे ग्लूकोज में शुगर लेवल नहीं बढ़ेगा।

ब्रेन के लिए फायदेमंद

फाइबर से भरपूर छुहारे का सेवन ब्रेन हेल्थ के लिए भी अच्छा माना जाता है। इससे याददाश्त बढ़ती है और अल्जाइमर जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है।

स्टेमिना बढ़ाए

सेक्सुअल स्टेमिना बढाने में भी छुहारा बहुत फायदेमंद माना जाता है। छुहारे , इलायची को दूध में उबाल। इसे छानकर शहद मिलाकर खाली पेट पीएं। इससे आपको फर्क नजर आएगा।

हार्ट अटैक से बचाव

शोध के अनुसार, छुहारे में पोटैश‍ियम होता है, जो हार्ट अटैक का जोखिम कम करता है। इससे ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है और खून के थक्के बनने की संभावना भी कम होती है।

PunjabKesari

Related News