You are hereLife Style

इन तानाशाही शासकों ने अपने समय में मचा दिया था कहर

इन तानाशाही शासकों ने अपने समय में मचा दिया था कहर
Views:- Friday, April 21, 2017-1:14 PM

पंजाब केसरी(लाइफस्टाइल):  दुुनिया में हर किसी देश में कभी न कभी राजतन्त्र जरूर था। कुछ देशों में तो राजाओं ने अपने शासन का गलत फायदा उठाकर राजतन्त्र को तानाशाही में बदल दिया था। उनके क्रूर शासन ने जनता का जीना बेहाल कर दिया था। कुछ को तो दुनिया के सबसे क्रूर तानाशाहों के नाम से भी जाना जाता है। इतिहार के इन तानाशाहों के मचाए कहर को आज भी लोग बुरा वक्त मानकर याद करते हैं। 


1. ईदी अमीन (Idi Amin)
युगाडा में तानाशाह ईदी अमीन के जुल्मोें का राज 1971 से 1979 तक खूब चला था। कहा जाता है कि उसने अपने 8 साल के राज में 5 लाख से भी ज्यादा मासूम लोगों को मौत की घाट उतार दिया था। उसके राज में लोगों को बहुत कड़ी सजाएं दी जाती थी। उनके प्राइवेट पार्ट तक काट दिए जाते थे। औरतों के साथ रेप के बाद उनको मार कर लाश को मगरमच्छ के खाने के लिए डाल दिया जाता था। 


2. एडोल्फ हिटलर (Adolf Hitler)

PunjabKesari

दुनिया के सबसे बड़े तानाशाहों में एडोल्फ हिटलर का नाम सबसे पहले आता है। जर्मनी के नाजी पार्टी के इस नेता ने 1933 से 1945 जर्मनी में अपना राज चलाया। इस दौरान उसने करीब 1.7 करोड़ लोगों की हत्या भी करवाई। वह यहूदियों के पूरी तरह से खिलाफ था। इस बेरहम शासक ने कभी यहूदी, इसाई, महिलाएं और बच्चों पर रहम नहीं खाया था। 


3. सद्दाम हुसैन (Saddam Hussein)

PunjabKesari

सद्दाम हुसैन 21वीं सदी का सबसे कट्टर तानाशाह था। सद्दाम हुसैन ने अपने तानाशाही शासनकाल में लोगों को दर्दनाक मौते दी थी। उसने इस दौरान करीब 20 लाख लोगों की हत्या करवा दी थी। ऐसा कहा जाता है कि वो बहुत ही बेरहम था। तड़प-तड़प कर मारे जाने वाले लोगों की दर्दनाक चीखों को रिकॉर्ड करके वह सुनता था। इससे उसको बेहद खुशी मिलती थी। 


4. रॉबर्ट मुगाबे (Robert Mugabe)  

PunjabKesari

जिंबाब्वे के राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे ने 1987 से लेकर 2013 तक अपना शासन चलाया। वह बहुत खतरनाक राष्ट्रपति था। उसने लोगों को डरी-धमका कर 20,000 आम का कत्ल  करके सत्ता हासिल की थी। उसकी खराब नीतियों के चलते 30 लाख से ज्यादा लोगों की जिंदगी बर्बाद हो गई थी। 

5. हुस्नी मुबारक (Hosni Mubarak)

PunjabKesari

हुस्नी मुबारक ने मिस्र पर 1981 से 2011 तक राज किया। उसकी क्रूरता के कारण लोगों ने उसके खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया था। 2012 में उसे उम्र कैद की सजा दे दी गई।