23 MAYTHURSDAY2019 10:31:31 PM
Nari

Alert! ब्रेकफास्ट छोड़ने वालों को Heart Attack का खतरा, और भी 8 बड़े नुकसान

  • Edited By Sunita Rajput,
  • Updated: 19 Apr, 2019 05:46 PM
Alert! ब्रेकफास्ट छोड़ने वालों को Heart Attack का खतरा, और भी 8 बड़े नुकसान

क्या आप भी जल्दी घर से निकलने के चक्कर में नाश्ता स्किप कर देते हैं और देर रात को खाना खाते हैं? तो अपनी इस आदत को सुधार लीजिए क्योंकि ऐसा करके आप अपनी जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक ऐसा करने से दिल की बीमारियों का खतरा तेजी से बढ़ने लगता है जिस वजह से जान भी जा सकती हैं। 

 

4 से 5 गुणा बढ़ जाता है मौत का खतरा 

प्रिवेन्टिव कार्डियोलॉजी के यूरोपीय जर्नल 'द फाइंडिग्स' में छपे शोध के अनुसार, जो लोग खाना खाने के गलत तरीका अपनाते हैं व सुबह का नाश्ता नहीं करते, उनमें मौत होने का खतरा चार से पांच गुणा बढ़ जाता है। इतना ही नहीं इससे दिल का दौरा यानी हार्ट अटैक होने की संभावना भी बढ़ जाती हैं। एक पुरानी स्टडी के मुताबिक, नाश्ता न करने वाले लोगों में 27 % हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है। नाश्ता न करने से मोटापा बढ़ता है, जिससे हार्ट पर बुरा असर पड़ता है।

PunjabKesari

ब्रेकफास्ट स्किप करने के अन्य नुकसान
डायबिटीज का खतरा

जो सुबह ब्रेकफास्ट नहीं करते उनमें टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा 33 प्रतिशत ज्यादा होता है। इतना ही नहीं, वो लोग जो सप्ताह में 4 दिन ब्रेकफास्ट नहीं करते उनमें भी डायबीटीज होने का खतरा 55 प्रतिशत अधिक होता है। इसलिए अपनी खाने की आदतों को सुधारे और हैल्दी ब्रेकफास्ट करें। 

वजन बढ़ना

अधिकतर लोगों को माना हैै कि ब्रेकफास्ट स्किप करने से कैलोरी बर्न होती है जोकि बिल्कुल गलत हैं। स्टडी में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि रोजाना ब्रेकफास्ट करने से शरीर का वजन सही बना रहता है। दरअसल, ब्रेकफास्ट स्किप वाले लोग लंच और डिनर में ज्यादा खाते हैं जिससे उनका वजन बढ़ना शुरु हो जाता है।

PunjabKesari

मेटाबॉलिज्म पर असर

ब्रेकफास्ट स्किप करने से शरीर के मेटाबॉलिज्म पर भी गहरा असर पड़ता है। लंबे समय तक न खाने से शरीर की कैलोरी बर्न कम होती है, जिससे मोटापा बढ़ता है और मेटाबॉलिज्म घटता है। इसके अलावा इससे ब्लड शुगर का स्तर भी कम होता है। 

चिड़चिड़ापन व गुस्सा आना

लंबे समय तक भूखा रहने से कई बार गुस्सा आने लगता है। एक स्टडी में ये बात साबित भी हो चुकी हैं कि जो लोग रोजाना ब्रेकफास्ट करते हैं उनका मूड उन लोगों के मुकाबले अच्छा रहता है जो ब्रेकफास्ट स्किप कर देते है। 

ब्रेन पर असर

एक रिसर्च के अनुसार, नाश्ता न करने का बुरा असर दिमाग पर भी पड़ता है। दरअसल, ब्रेकफास्ट न करने से ब्रेन को पर्याप्त न्यूट्रीशन और एनर्जी नहीं मिल पाती, जिससे ब्रेन के फंक्शन्स काम करना बंद कर देते है। इससे इंसान की सोच-समझने की शक्ति भी कम हो जाती है। 

माइग्रेन की प्रॉब्लम

नाश्ता न करने से आप ज्यादा देर तक खाली पेट रहते हैं तो इस दौरान बॉडी का ग्लूकोस लेवल बैलेंस करने के लिए कुछ हॉर्मोन्स रिलीज होते हैं, जिससे बीपी बढ़ता है। जब यह प्रोसेस चलता है तो माइग्रेन का अटैक आ सकता है। इसके अलावा, इससे स्ट्रेस, डिप्रेशन जैसी कई बीमारियों का खतरा बढ़ता है।

PunjabKesari

मूंह से बदबू आना

ब्रेकफास्ट न करने से मूंह में सलाइवा कम मात्रा में बनता है, जिससे जीभ पर मौजूद बैक्टीरिया दूर नहीं हो पाते हैं और मूंह से अजीब सी बदबू आने लगती है। इससे उन्हें शर्मिंदगी का सामना भी करना पड़ सकता है। 

बदलें अपनी आदत और खाएं हैल्दी ब्रेकफास्ट

शोधकर्ताओं ने चेतावनी देते हुए कहा है कि सुबह का नाश्ता जरूर करें और खाने की आदत को सुधारने के लिए रात के भोजन और सोने के समय में कम से कम 2 घंटे का अंतर रखें। उनके मुताबिक, सुबह के हैल्दी नाश्ते में डेयरी प्रॉडक्ट्स जैसे- फैट फ्री या लो फैट दूध, दही और पनीर, कार्बोहाइड्रेट (गेंहू की रोटी, सेंके हुए ब्रेड, अनाज) और फलों को शामिल करना चाहिए। 
 

Related News

From The Web

ad