12 MAYWEDNESDAY2021 2:42:57 AM
Nari

Vastu Tips: सुखी वैवाहिक जीवन के लिए बेडरूम में रख लें यह 1 चीज

  • Edited By neetu,
  • Updated: 30 Apr, 2021 05:58 PM
Vastu Tips: सुखी वैवाहिक जीवन के लिए बेडरूम में रख लें यह 1 चीज

आज के समय में हर कोई किसी ना किसी समस्या से परेशान है। इसके कारण घर का माहौल भी खराब रहता है। ऐसे में कुछ घर पर कुछ खास चीजें रखने से लाभ हो सकता है। ज्योतिष व वास्तु के अनुसार घर पर चांदी का मोर रखना बेहद शुभ माना जाता है। इससे जीवन की समस्याओं के साथ आर्थिक परेशानी दूर होती है। 

चांदी का मोर 2 तरीके से फायदेमंद 

चांदी एक शुभ धातु होती है। वहीं दूसरी ओर मोर देवताओं को अतिप्रिय माना जाता है। ऐसे में दोनों के एक साथ मिलने से शुभफल की प्राप्ति होती है। 

वैवाहिक जीवन में बढ़ेगा प्यार

जिन लोगों को वैवाहिक जीवन में परेशानी हो उन्हें बेडरूम में जोड़ें में चांदी का मोर रखना चाहिए।‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌ इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा बढ़ेगी। वैवाहिक जीवन में चल रहा तनाव व समस्याएं दूर होकर प्यार बढ़ेगा। 

पति की होगी लंबी उम्र

चांदी सुख-शांति, समृद्धि व खुशहाली का प्रतीक है। ऐसे में विवाहित महिलाओं को चांदी के मोर वाली डिबिया में सिंदूर रखना चाहिए। मान्यता है कि इससे पति की आयु लंबी होती है।

PunjabKesari

सफलता दिलाए

मोर घर में मौजूद नेगेटिविटी को पॉजिटिविटी में बदलता है।‌ चांदी का मोर घर के ड्राइंग रूम में रखें। इससे कारोबार व नौकरी संबंधी समस्याएं दूर होकर तरक्की के रास्ते खुलेंगे। साथ दुर्भाग्य दूर होकर घर में सुख-समृद्धि, शांति व खुशहाली का आगमन होगा। 

भाग्य चमकाए

चांदी के मोर को अपनी तिजोरी या पैसे रखने वाली जगह पर रखें। इसे खरीदने के लिए पूर्णिमा का दिन बेहद शुभ माना जाता है। वास्तु व ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इससे भाग्य बढ़ता है।

PunjabKesari

आर्थिक परेशानी होगी दूर

अगर आपकी आर्थिक स्थिति कमजोर है। साथ ही घर में धन नहीं टिकता है तो घर पर नाचता हुआ चांदी का मोर रखें। वास्तु के अनुसार, नाचता हुआ मोर पैसों को अपनी ओर खींचता है। ऐसे में धन संबंधी समस्याएं दूर होकर आर्थिक स्थिति में सुधार आता है।

पूजा का मिलेगा दोगुना फल

चांदी को बेहद शुभ धातु माना जाता है। इसलिए पाठ-पूजा में इसका विशेष महत्व है। ऐसे में आप घर के पूजारूम में शांत मुद्रा में बैठे चांदी का मोर रखें। इससे देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलने के साथ पूजा का दोगुना फल प्राप्त होता है।

Related News