Twitter
You are hereNari

गले की इंफैक्शन यानि गलसुआ से बचाव के उपाय

गले की इंफैक्शन यानि गलसुआ से बचाव के उपाय
Views:- Wednesday, July 12, 2017-4:49 PM

गले में होने वाली इंफैक्शन को गलसुआ कहते हैं। इसमें गले में दर्द के साथ कान के आस-पास सूजन हो जाती है जिससे खाने-पीने में काफी तकलीफ होती है। यह एक संक्रामक बीमारी है जो एक से दूसरे व्यक्ति तक छींक, लार, थूक और छूने से भी हो सकती है। गलसुआ होने पर कान में दर्द, कमजोरी, गालों में सूजन, भूख न लगना और सिरदर्द जैसी समस्या हो सकती है। ऐसे में कुछ घरेलू उपाय करके इस समस्या से राहत पाई जा सकती है।

1. सिकाई करें
गलसुआ होने पर गर्म पानी की बोतल से सूजन वाली जगह पर सिंकाई करें। इसके अलावा गुनगुने पानी में नमक मिलाकर गरारे करने से भी राहत मिलती है। इससे सूजन कम होगी और दर्द से भी राहत मिलती है।
2. नमक
PunjabKesari
नमक को एक कपड़े में बांधकर तवे पर हल्का गर्म कर लें और फिर इससे गले के आसपास सिंकाई करें।
3. चावल का पानी
PunjabKesari
उबले चावलों में से जो पानी निकलता है उसमें 1 चुटकी नमक डालकर सेवन करने से भी फायदा होता है। इससे शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं और पेट भी भरा रहता है।
4. अदरक
PunjabKesari
अदरक के टुकड़ों को काटकर सूखा लें और सूखने के बाद इस पर काला नमक लगाकर चूसें। इसके अलावा कच्चे अदरक को भी काले नमक के साथ चूसने से सूजन और दर्द से राहत मिलती है।
5. मेथी दाना
मेथी के दानों को पीसकर पाउडर बना लें और इसमें पानी मिलाकर लेप तैयार करें। इस लेप को गलसुए वाली जगह पर लगाने से राहत मिलती है। इसके अलावा इस पाउडर में चुटकी भर नमक और हल्का गुनगुना पानी मिलाकर लगाने से भी फायदा होता है।