Twitter
You are hereNari

बनें स्मार्ट वुमन और करें ससुराल पर राज

बनें स्मार्ट वुमन और करें ससुराल पर राज
Views:- Friday, November 21, 2014-8:06 AM

स्मार्ट अर्थात एक्टिव, हंसमुख, हर किसी की डिमांड को चुटकियों में पूरा कर देने वाली, सुबह नाश्ते से लेकर कपड़ों की धुलाई तक और बच्चों को पढ़ाने से लेकर रात को सोने से पहले सास के पांव दबा कर सोने वाली दस-दस हाथों की शक्ति वाली बहू, जो ससुराल में हर किसी की चहेती बन जाती है। स्मार्ट वुमन बनना कोई मुश्किल काम नहीं है, ख्याल तो आप हर किसी का वैसे भी रखती ही हैं, पर किसको कब क्या चाहिए, यह पता हो और उसे वह चीज सही समय पर मिल जाए, तो फिर जादू चलाना आसान हो जाता है। यही नहीं, ससुराल में अन्य सदस्य भी धीरे-धीरे आपका ख्याल रखना आरंभ कर देंगेे।

कुछ गृहिणियां ऐसी भी होती हैं जो अपने घमंड एवं नकचढ़े स्वभाव के कारण दूसरों का ख्याल नहीं रखतीं और इस तरह बात पत्नी को समझाने से लेकर लड़ाई-झगड़े तक पहुंचने लगती हैं जबकि सुपर वुमन ऐसी नौबत कभी आने ही नहीं देती।

सुबह की ऐसे हो शुरूआत
एक गृहिणी की शुरूआत सुबह सब को बैड टी देने से होती है। इसलिए सास-ससुर को चाय देते हुए यदि आप उनके पांव छू लेंगी तो आपके आदर और प्यार से वे निहाल होकर आपको आशीर्वाद ही देंगे। यदि हर रोज संभव नहीं तो छुट्टी वाले दिन सब की पसंद का नाश्ता या खाना अवश्य बनाएं, जब आप प्यार से खाना पकाएंगी तो हर किसी को उसमें आपके प्यार का स्वाद भी मिलेगा तथा अपनेपन की डोर भी मजबूत होगी।

जब आएं ऑफिस से
ऑफिस से आते ही अपने कमरे में न घुस जाएं बल्कि सास के कमरे में जाकर उनका हाल-चाल पूछें। बच्चों से बात कर, उस दिन की उनकी जरूरत एवं होम वर्क के बारे में जानें, फिर देखें कि आपके पोशाक चेंज करते-करते जब सासू मां चाय ले आएंगी तो दिन भर की थकान अपने आप ही उतर जाएगी।

पति को दें अच्छा माहौल
पति ऑफिस से लौट कर शाम को घर आएं, तब तक आप बिल्कुल फ्रैश हो जाएं और घर पर उन्हें अच्छा माहौल दें, जिससे उन्हें सुकून मिलेगा क्योंकि शांत और खुशियों भरा माहौल किसी भी थके हुए शख्स को तरोताजा बना सकता है।

संवेदनशील बनें
नारी की खूबसूरती या उसकी लाखों की कमाई उस समय बेमानी लगने लगती है जब वह घमंडी, बदमिजाज या फिर सिर्फ अपने लिए ही सोचने वाली हो। इसलिए सबके प्रति संवेदनशील बनें क्योंकि घर रिश्तों से बनता है और खुशियां संवेदनाओं से ही आती हैं। यदि घर में सब लोग दुखी होंगे तो सुख और शांति कहां से आएगी। उच्च शिक्षा, अच्छी जॉब एवं सुंदरता एक सीमा तक ही अपना जादू चला सकते हैं, परंतु घर तथा इसमें रहने वाले लोगों का ख्याल रखना, दूसरों के दिलों में बसी आपकी छाप लंबे समय तक अपना असर दिखाती है।

व्यवहार में झलके स्मार्टनैस
स्मार्टनैस बातों में नहीं, बल्कि व्यवहार में झलकनी चाहिए। एक बहू होने के नाते हर किसी से मधुर संबंध बनाने की उम्मीद आप से ही की जाएगी।
 
इस बात का ध्यान रखें कि ससुराल में आपका हर किसी से रिश्ता भले ही पति के कारण जुड़ता हो, परंतु निभता सास-ससुर के कारण ही है। इसलिए उन सभी रिश्तों का ध्यान रखें, जो उनसे जुड़े हों, फिर देखें कि ससुराल में आपका ही राज होगा।   

—हेमा शर्मा, चंडीगढ़