21 JUNFRIDAY2024 12:57:15 AM
Nari

नॉर्मल डिलीवरी के बाद जरूरी हैं इंटीमेट एरिया का खास ख्याल रखना, ऐसे मेंटेन करें Hygiene

  • Edited By Charanjeet Kaur,
  • Updated: 20 May, 2024 11:21 AM
नॉर्मल डिलीवरी के बाद जरूरी हैं इंटीमेट एरिया का खास ख्याल रखना, ऐसे मेंटेन करें Hygiene

बच्चे पैदा करना बिल्कुल आसान काम नहीं है। कहते हैं जब महिलाएं नॉर्मल डिलीवरी करती हैं तो शरीर में 108 हड्डियां एक साथ टूटने जितन दर्द होता है। इस दौरान प्राइवेट पार्ट भी काफी स्ट्रेस से गुजरता है और ये एरिया काफी सेंसेटिव होता जाता है। इसलिए जरूरी है कि इंटीमेट एरिया का नॉर्मल डिलीवरी के बाद खास ख्याल रखा जाए।

PunjabKesari

लगते हैं टांके

नॉर्मल डिलीवरी में भी महिलाओं के प्राइवेट पार्ट में कट लगाया जाता है। जिसकी वजह से प्राइवेट पार्ट और इंटीमेट हेल्थ की देखभाल बहुत जरूरी होती है। इस कट को टांकों की मदद से सिल सिला जाता है। जो कि कुछ हफ्तों में घुल जाता है। या फिर डॉक्टर के पास जाकर इन टांकों को कटवाना होता है। ऐसे में महिलाओं को प्राइवेट पार्ट से जुड़ी इन बातों का खास ख्याल रखना चाहिए।

बैठने का रखें ध्यान

नॉर्मल डिलीवरी में भी महिलाओं को अपनी बैठने की स्थिति का ध्यान रखना चाहिए। जिससे कि ये टांके घुलने से पहले टूटे नहीं और ना ही टांको पर दबाव पड़े। नहीं तो टांके खराब हो जाते हैं। वहीं इसके साथ ही टांकों के इर्दिगिर्द के एरिया की साफ-सफाई भी बहुत जरूरी है। हमेशा मुलायम सतह पर ही बैठने की कोशिश करें। जिससे कि टांके रगड़ की वजह से खराब ना हो जाए।

PunjabKesari

सिंकाई है जरूरी

डॉक्टर की सलाह के अनुसार प्राइवेट पार्ट की सिंकाई बेहद जरूरी होती है। गर्म पानी से सिंकाई के साथ ही डॉक्टर की दवाई एंटीबॉयोटिक को लगाना न भूलें। जिससे कि किसी भी तरह के इंफेक्शन से बचा जा सके।

यूरिन जाने के बाद सफाई

एक्सपर्ट्स का कहना है कि हर बार यूरिन करने के बाद महिला को हल्के गुनगुने पानी से प्राइवेट पार्ट को साफ करना चाहिए। इसके साथ ही मुलायम कपड़े की मदद से धीरे से पानी को पोंछ दें। ध्यान रहे कि प्राइवेट के सेंसेटिव हिस्से को कपड़े से रगड़कर पानी ना पोछें। नहीं तो प्राइवेट पार्ट के चोट खाने और टांके के रगड़ने का डर होता है।

पानी है जरूरी

कई बार नॉर्मल डिलीवरी के बाद घर के बड़े बुजुर्ग कम पानी पीने की सलाह देते हैं। लेकिन पानी कम पीने की वजह से टांकों पर बुरा असर पड़ता है। इसलिए जरूरी है कि शरीर में सही मात्रा में लिक्विड जाए। पानी के साथ दूसरी हल्दी ड्रिक्स जरूर पिएं।

PunjabKesari

यूटीआई का खतरा

सही तरह से साफ- सफाई और पानी की कमी से नॉर्मल डिलीवरी के बाद यूरिन इंफेक्शन का भी खतरा रहता है।

यूरिन करते वक्त जलन होने पर क्या करें

कुछ महिलाओं को डिलीवरी के बाद यूरिन करते वक्त प्राइवेट पार्ट और टांकों में जलन महसूस होती है। ऐसे में जरूरी है कि खानपान का खास ध्यान रखें। तेल- मसाले से दूर रहें और फाइबर वाले फूड्स के साथ भरपूर फ्रूट्स खाएं।

Related News