04 AUGTUESDAY2020 5:24:31 AM
Nari

आखिर क्यों हिंदू को विज्ञान धर्म से जाना जाता है?

  • Edited By neetu,
  • Updated: 21 Jul, 2020 06:49 PM
आखिर क्यों हिंदू को विज्ञान धर्म से जाना जाता है?

भारत देश में बहुत ही धर्म और जाति के लोग रहते है। इनमें से हिंदू धर्म को सबसे प्राचीन माना जाता है। इस धर्म में बहुत सी मान्यताएं ऐसी है जो विज्ञान के साथ संबंध रखती है। ऐसे में यह वैज्ञानिक धर्म के तौर भी माना जाता है। तो चलिए जानते है ऐसी कौन की चीजें हैं तो हिंदू धर्म को विज्ञान के साथ जोड़ने का काम करती हैं। 

हवन

हिंदू धर्म मे हवन को करना बहुत ही पवित्र माना जाता है। ऐसे में लोग हर शुभ अवसर पर हवन करवाते रहते हैं। माना जाता है कि इससे मन की शुद्धि होती है। हवन करने में मुख्य रूप से देसी घी, कर्पूर, आम की लकड़ी, गंगा जल आदि सामग्री को इस्तेमाल किया जाता हैं। अब बात विज्ञान की करें तो वैज्ञानियों के मुताबिक हवन में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री का धुआं हवा में उड़ कर वातावरण को शुद्ध करने का काम करती है। इससे हवा में मौजूद बैक्टीरिया खत्म होते है। 

तुलसी पूजा

तुलसी का पौधा लगभग हर भारतीय के घरों में पाया जाता है। प्राचीन काल से ही इस पौधे की पूजा- अर्चना की जा रही है। औषधीय गुणों से भरपूर होने से इसे दवाइयां बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है। वास्तु के अनुसार रोजाना सुबह तुलसी के पौधे पर जल चढ़ाने से घर में सुथ-शांति व समृद्धि बरकरार रहती है। वहीं घर पर यह पौधा होने से वातावरण में फैली नाकारात्मक ऊर्जा दूर होती है। वातावरण शुद्ध होने के कारण विज्ञान भी इस पौधे को घर में रखना अच्छा समझते है। 

nari,vastu,PunjabKesari

उपवास रखना

हुिंदूओं में पुराने जमाने से ही उपवास रखने की परंपरा मानी जाती है। वे भगवान की कृपा व इच्छाओं की पूर्ति के लिए व्रत रखते है। मगर इसे विज्ञान के साथ जोडो़ं तो उपवास रखने से पाचन क्रिया मजबूत होती है। शरीर का बीमारियों से बचाव रहता है। 

सूर्य नमस्कार

हिंदू धर्म में सूरज को देवता के रूप में पूजा जाता है। ऐसे में सुबह जल्दी उठकर स्नान कर सूरज को चढ़ाना और नमस्कार करना शुभ माना जाता हैं। इसी तरह विज्ञान ते अनुसार रोजाना सुबह के सूर्य की किरणों आंखों और शरीर पर पड़ने से सेहत के लिए फायदेमंद होता है। 

nari,vastu,PunjabKesari

घंटी और शंख ध्वनि

वा्स्तु के अनुसार पूजा करते समय घंटी और पूजा के बाद शंख बजाना शुभफलदाई होता है। इससे घर के वातावरण में पॉजीटीविटी फैलती है। इसके साथ ही  वैज्ञानिकों के मुताबिक इनका प्रयोग करने से वातावरण में पाएं जाने वाले कीटाणु खत्म होते है। 

Related News