22 JANWEDNESDAY2020 1:46:01 PM
Nari

'द फैमडेंट एक्सीलेंस इन डेंटिस्ट्री अवार्ड 2019' से सम्मानित हुई डॉ. मोहिनी छाबड़ा

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 08 Dec, 2019 10:44 AM
'द फैमडेंट एक्सीलेंस इन डेंटिस्ट्री अवार्ड 2019' से सम्मानित हुई डॉ. मोहिनी छाबड़ा

गुरु गोबिंद सिंह नगर की रहने वाली ऑर्थोडॉन्टिस्ट डॉ. मोहिनी छाबड़ा  दंत चिकित्सा की फील्ड में ऑस्कर कहलाने वाला द फैमडेंट एक्सीलेंस इन डेंटिस्ट्री अवार्ड 2019 के साथ सम्मानित हुई। डॉ. मोहिनी नार्थ इंडिया की पहली महिला है जो इस अवार्ड कैटेगरी के लिए नॉमिनेट हुई थी। इसके साथ हीं उन्हें न्यू प्रैक्टिस ईयर ऑफ दी अवार्ड 2019 से भी सम्मानित किया गया।  ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में गोल्ड मेडलिस्ट रही मोहिनी ने बताया कि इस अवार्ड के लिए अप्लाई करना ही उनके लिए सबसे मुश्किल था क्योंकि पढ़ाई के बाद उन्हें प्रैक्टिस करते हुए अभी 3 साल ही हुए हैं। वहीं इस अवार्ड के लिए उन डॉक्टर्स ने अप्लाई किया था जिनका करियर बहुत ही लंबा रहा है।

डॉ. मोहिनी ने कहा कि वह सिर्फ लोगों की स्माइल ही ठीक नहीं करते है बल्कि उनके पूरे चेहरे को ठीक करते है। इस अवार्ड की फाइल में उन्होंने न केवल लोगों के दांत ठीक करने के बल्कि लोगों के जबाड़ों में दिखाई दे रहे फर्क, लिंगुअल ऑर्थो  के केस भेजे। वहीं जब डॉक्टरी फिल्ड में इनोवेशन की बात आती है तो उन्होंने कई तरह की इनोवेशन की जो अवार्ड मिलने में सहायक सिद्ध हुई।

 

PunjabKesari,nari

खुद बनाते है एलाइनर्स

डॉ. मोहिनी ने बताया कि दांत चिकित्सा के दौरान दांतों को सही दिशा में लाने के लिए ब्रेसिस लगाए जाते है लेकिन उससे चेहरे की लुक खराब हो जाती है। इसलिए उन्होंने अपने पति डॉ. परविंदर सिंह ढींगरा के साथ मिलकर एलाइनर्स बनाए है जिसमें बहुत ही कम दाम में प्लास्टिक ट्रे की मदद से दांत ठीक किए जाते है। इससे चेहरे की खूबसूरती भी खराब नहीं होती है। इसके लिए उन्होंने जर्मनी से स्पेशली मशीन मंगवाई और विदेश से इसके ट्रेनिंग ली थी।

परिवार के सभी सदस्य मैडीकल फिल्ड में

डॉ. मोहिनी ने बताया कि वह शुरु से ही मेडिकल फील्ड में जाना चाहती थी  क्योंकि उनके परिवार के सभी सदस्य इसी फील्ड से हैं लेकिन वह ऑर्थोडॉन्टिस्ट इसलिए बनी क्योंकि वह लोगों की स्माइल को सुंदर बनाना चाहती हैं। उनका मानना है कि जब लोगो के दांत अच्छे होते है तो उनकी स्माइल अपने आप ही अच्छी हो जाती है और उनमें एक आत्मविश्वास आता है।

 

PunjabKesari,nari

देश विदेश के डॉक्टर अवार्ड के लिए करते है अप्लाई

इस अवॉर्ड को दंत चिकित्सक की फील्ड में ऑस्कर अवॉर्ड इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसके लिए न केवल भारत के बल्कि विदेश के दंत चिकित्सक भी अप्लाई करते है। सभी डॉक्टर अपनी प्रेक्टिक्स, मेडिकल केस, इनोवेशन के बारे में बताते है। इसके बाद उनमें से 8 डॉक्टर्स का चयन किया जाता है जिसमें से एक को अवॉर्ड नाइट में यह पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाता है। 

Related News