02 DECWEDNESDAY2020 6:10:38 AM
Nari

World Heritage Week: इन 5 ऐतिहासिक इमारतें में छिपा भारत का इतिहास

  • Edited By neetu,
  • Updated: 20 Nov, 2020 02:43 PM
World Heritage Week: इन 5 ऐतिहासिक इमारतें में छिपा भारत का इतिहास

भारत में यहां घूमने के लिए बहुत से टूरिस्ट स्पॉट्स है। हिल स्टेशल, मॉल, मंदिरों व ऐतिहासिक स्थलों से भरा यह देश दुनिया भर में मशहूर है। ऐसे में यहां हर साल देश-विदेश से लोग अपनी छुट्टियां मनाने आते हैं। बात अगर ऐतिहासिक स्थलों की करें तो यहां घूमकर आप इनकी हिस्ट्री को अच्छे से जान सकते हैं। तो चलिए आज हम आपको 'विश्व धरोहर सप्ताह' के मौके पर भारत की कुछ ऐतिहासिक इमारतों से रू-ब-रू करवाते हैं। यहां पर घूमने के साथ नॉलेज भी ले सकती है। तो आइए जानते हैं उन इमारतों के बारे में...

ताजमहल

ताजमहल को पूरी दुनिया के सात अजूबों की लिस्ट में रखा गया है। आगरा में बसा ताजमहल शाहजहां द्वारा अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनवाया गया था। संगमरमर के पत्थरों से तैयार महल किसी का भी मन अपनी ओर खींचने का काम करता है। चारों तरह हरियाली से भरा बाग घूमने के लिए बेस्ट है। 

PunjabKesari

लाल किला

दिल्ली का लाल किला सन 1638 को बनवाया गया था। बलुआ पत्थर से तैयार यह किला दिखने में बेहद खूबसूरत है। इसे अंदर से मार्बल के पत्थरों द्वारा और लाल रंग की शिल्पकारी करके तैयार किया गया है। इसे सुंदर व अनमोल रत्नों से सजाया गया था। मगर वे रत्न अंग्रेंजों द्वारा चुरा लिए गए। मगर आज भी इसे देखने में भारतीय संस्कृति की झलक पेश होती है। 

PunjabKesari

हुमायूं का मकबरा

लाल किले के साथ हुमायूं का मकबरा भी दिल्ली में स्थापित एक ऐतिहासिक इमारत है। इसे मुगलों द्वारा उस समय बनवाया गया जब देश में मुगलों का शासक था। 

PunjabKesari

आगरा का किला

आगरा में ताजमहल के साथ किला भी मशहूर हो। हर साल इसे देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा रहती है। मुगलों के शासक हिमायु, शाहजहां, अकबर, जहांगीर इसी किले पर रह कर शासन किया करते थे। हाथियों की मूर्तियां सजा यह मकबरा इतिहास की झलक पेश करता है। 

PunjabKesari

हवा महल

हवा महल पिंक सीटी के नाम से मशहूर जयपुर में स्थापित है। इसे महाराजा सवाई प्रताप ने बनवाया था। दिखने में बहुत बड़ा महल होने के बावजुद भी इसके अंदर एक भी कमरा न होकर सिर्फ गलियारा बना है। 5 मंजिलों का यह ऐतिहासिक महल एकदम सीधे खड़ा है। बात इसके डिजाइन की करें तो आपको इस्लामिक के साथ हिंदू राजपूत वास्तुकला कला का मिश्रण देखने को मिलेगा। 

PunjabKesari
 

Related News