15 JULMONDAY2024 8:29:56 PM
Nari

बड़े ब्रांड की नकली चीजें ले जाना यहां है अपराध! आप भी ना करना ये गलती

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 20 Jun, 2024 03:36 PM
बड़े ब्रांड की नकली चीजें ले जाना यहां है अपराध! आप भी ना करना ये गलती

क्या आप प्यूमा, एडिडास या नाइकी की नकली चीजें लेकर अमेरिका जा रहे हैं? हो सकता है कि आपकी सस्ती खरीदी गई चीज़ें अमेरिकी कस्टम अधिकारियों द्वारा ज़ब्त कर ली जाएं या नष्ट कर दी जाएं। अमेरिकी कस्टम और बॉर्डर प्रोटेक्शन (CPB) द्वारा नकली सामान की तस्करी पर निगरानी बढ़ाए जाने के बाद, हाल के महीनों में अमेरिका आने वाले कई भारतीय छात्रों और यात्रियों के नकली लग्जरी सामान को प्रवेश द्वार पर जब्त कर लिया गया। 

PunjabKesari

 TOI पर छपी खबर के मुताबिक कई लोगों ने अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि उन्होंने एयरपोर्ट पर CPB के कर्मचारियों द्वारा उनके  कपड़ों में कैंची चलाते या उन्हें कूड़ेदान में फेंकते हुए देखना पड़ा। झारखंड के जमशेदपुर के एक स्कूल टीचर ने  TOI काे बताया कि मैं अपने  बेटे से मिलने अमेरिका गया था, जो टेक्सास में सप्लाई चेन मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री कर रहा है। मैं आठ शर्ट, चार ट्राउजर, कुछ मोजे और एक जोड़ी जूते ले जा रहा था। सारा सामान अभी भी पैक था, क्योंकि मैंने उन्हें अभी खरीदा था। 

PunjabKesari

टीचर ने बताया कि- "प्रवेश द्वार पर अधिकारियों ने मेरे बैग की जांच की और मुझसे कई सवाल पूछे कि मैं कहां से आया हूं, ये सामान किसके लिए है, क्या मैं इनकी तस्करी कर रहा हूं, आदि। हालांकि मैंने उन्हें समझाने की कोशिश की कि ये सब मेरे बेटे के लिए है लेकिन उन्होंने जोर देकर कहा कि मैं इन्हें नहीं ले सकता क्योंकि ये सभी बड़े ब्रांड की नकली नकलें थीं, जिनके बारे में मुझे जानकारी नहीं थी। चूंकि उन्होंने मुझे आपराधिक आरोपों की धमकी दी थी, इसलिए मेरे पास उन्हें तुरंत सब कुछ जब्त करने देने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।"

PunjabKesari

43 वर्षीय यात्री ने बताया कि  " कपड़ों के कई सामान फेंकने से पहले फाड़ दिए गए थे। मैंने कम से कम 30,000 रुपये का सामान खो दिया है। अधिकारियों से यात्रियों के लाभ के लिए प्रासंगिक प्लेटफार्मों पर इन नियमों का उल्लेख करने की अपील की"। ​​हैदराबाद के 27 वर्षीय छात्र ने पूछा- "हम इस (नियम) को कैसे जान सकते हैं, जब इसका उल्लेख 'क्या करें और क्या न करें' गाइड में नहीं किया गया है, जो यात्रियों को यह बताता है कि क्या ले जाया जा सकता है और क्या नहीं," कुछ महीने पहले इसी तरह का अनुभव हुआ था। भारत में लोगों के लिए बड़े ब्रांडों की प्रतियां बेचना और खरीदना बहुत आम बात है। मुझे नहीं पता था कि उन्हें अपने सामान में ले जाना इतना गंभीर अपराध है।" 

PunjabKesari

 जब CPB से संपर्क किया तो अधिकारियों ने बताया कि 2023 में 19,724 शिपमेंट से 23 मिलियन नकली सामान जब्त किए जाने के बाद जांच में वृद्धि हुई है। विभाग के एक प्रतिनिधि ने कहा- "यह बौद्धिक संपदा अधिकारों (IPR) का उल्लंघन करता है। अगर ये सामान असली होते या असली ब्रांड नामों के साथ अवैध रूप से बेचे जाते, तो इसकी कीमत 2.7 बिलियन डॉलर होती।" उन्होंने आगे कहा कि ऐसे नकली सामान आर्थिक जीवन शक्ति, राष्ट्रीय सुरक्षा और सार्वजनिक सुरक्षा के लिए खतरा हैं। "उन्हें संयुक्त राज्य अमेरिका में लाने पर नागरिक या आपराधिक दंड हो सकता है और नकली सामान खरीदना अक्सर जबरन श्रम या मानव तस्करी जैसी आपराधिक गतिविधियों को बढ़ावा देता है।

Related News