12 JULFRIDAY2024 12:13:47 PM
Nari

नहीं होगी पेट संबंधी परेशानियां, Gut Health को रखना है मजबूत तो खाएं ये 5 Foods

  • Edited By palak,
  • Updated: 30 Oct, 2023 05:16 PM
नहीं होगी पेट संबंधी परेशानियां, Gut Health को रखना है मजबूत तो खाएं ये 5 Foods

आंत में सूजन होने के कारण पेट से जुड़ी परेशानियां होने लगती हैं। आंत में कुछ ऐसे बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जो पाचन को दुरुस्त रखने में अहम भूमिका निभाते हैं। यह बैक्टीरिया सारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जरुरी होते हैं। इम्यूनिटी मजबूत करने और मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में यह बैक्टीरिया मदद करते हैं। इन बैक्टीरिया के अंसुतिलत होने के कारण आंत में सूजन भी हो सकती है जिसके कारण कब्ज, अपच, पेट दर्द और ब्लोटिंग जैसी समस्याएं होने लगती हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, अपनी डाइट में आप कुछ एंटीइंफ्लेमेटरी फूड्स को शामिल करके आंत में होने वाली सूजन से बच सकते हैं। तो चलिए आज आपको ऐसे फूड्स बताते हैं जो आपको आंत में होने वाली सूजन से बचाएंगे। आइए जानते हैं इनके बारे में...

लहसुन और अदरक 

अदरक में जिंजरॉल और लहसुन में एलिन नाम का एक्टिव कंपाउंड पाया जाता है। यह कंपाउंड पाचन को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इन दोनों चीजों में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाचन संबंधी समस्याओं जैसे कब्ज, दस्त, सूजन से भी राहत दिलवाने में मदद करते हैं। अदरक और लहसुन विषाक्त पदार्थ बाहर निकालकर शरीर के ठीक तरह से कार्य करने में भी मदद करते हैं। मसाले के तौर पर आप इन दोनों चीजों को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। 

PunjabKesari

केला और पपीता 

केला और पपीता यह दोनों ऐसे फल हैं जिसमें एंटीइंफ्लेमेटरी, बैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट्स गुण पाए जाते हैं। यह गुण शरीर की सूजन दूर करने में मदद करते हैं। इन दोनों फलों का सेवन करने से इम्यूनिटी भी बढ़ती है। आंत को स्वस्थ रखने के लिए आप केला और पपीता को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। 

प्रोटीन युक्त चीजें 

प्रोटीन युक्त आहार भी आपकी आंत को स्वस्थ रखने में मदद करेगा। ऐसे में इस तरह के फूड्स को आप अपनी डाइट में जरुर शामिल करें। दिन के दो मील में प्रोटीन वाला खाना जैसे पनीर, दालें, साबुत अनाज और अंडा आप खाने में शामिल करें। इसके अलावा फल-सब्जियां भी जरुर डाइट में शामिल करें। 

PunjabKesari

नारियल तेल 

खाली पेट नारियल तेल लेने से भी पेट की सूजन ठीक होती है। बैक्टीरिया कम होते हैं और पाचन सुधरता है। यह तेल एंटीऑक्सीडेंट्स का भी बहुत  ही अच्छा स्त्रोत माना जाता है। इसमें मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव आपकी गट हेल्थ को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

हल्दी 

प्राकृतिक उपचार के तौर पर इस्तेमाल होने वाली हल्दी भी आंत के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होती है। इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट्स गुण मौजूद होते हैं जो सूजन से लड़ने में मदद करते हैं। यह मांसेपेशियों की असामान्य एक्टिविटी को कम करके पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करते हैं। यदि आप आंतों को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो हल्दी को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। हल्दी वाला दूध या फिर गर्म पानी में डालकर आप इसका सेवन कर सकते हैं। 

PunjabKesari

Related News