04 JULMONDAY2022 9:18:26 AM
Nari

मिलिए कश्मीर की पहली कॉस्मेटोलॉजिस्ट गर्ल से, जो चलाती है खुद का Brand

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 22 Jun, 2022 02:57 PM
मिलिए कश्मीर की पहली कॉस्मेटोलॉजिस्ट गर्ल से, जो चलाती है खुद का Brand

इस दुनिया में इंसान के लिए असंभव नाम की कोई चीज नहीं है। इंसान अगर किसी चीज की चाहत रखता है तो वह उसे पा सकता है । यह साबित कर दिखाया है श्रीनगर के रैनावारी इलाके की 27 वर्षीय हरिबा चौधरी ने जो "कश्मीर की पहली कॉस्मेटोलॉजिस्ट गर्ल" बन गई है। उन्होंने बचपन में जो सपना देखा था उसे पूरा करके ही दम लिया। 

 

बचपन का सपना किया पूरा

हरिबा आज युवाओं के लिए एक मिसाल बन गई है। वह खुद का ब्रांड बनना चाहती थी और उनका यह सपना आखिरकार पूरा हो गया। ये मुकाम पाने के बाद हरिबा ने बताया कि- "मेरा एक बुटीक था, लेकिन मैं कुछ और चाहती थी जिसका भविष्य बेहतर हो और जो ट्रेंड में भी हो। मैंने अपना नाम "लक्मे" में दर्ज किया और दिल्ली में कॉस्मेटोलॉजिस्ट का कोर्स किया और मैं गर्व से कह सकता हूं कि मैं कॉस्मेटोलॉजिस्ट का यह कोर्स करने वाली "पहली कश्मीरी लड़की" बन गई"। 

PunjabKesari
दिल्ली में ली Training

चौधरी आगे बताती हैं कि-" नई दिल्ली में गर्मी की वजह से मुझे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इसके बाद कश्मीर आने पर मुझे प्रसिद्ध "वीएलसीसी" सैलून में प्रमुख के रूप में चुना गया, लेकिन इस दौरान मुझे बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ा। well trained होने के बावजूद मेरे काम की कदर नहीं हो पा रही थी "। 

 

हरिबा को था खुद पर विश्वाश

मिस चौधरी ने बताया कि " पिछले साल मैंने फैसला लिया कि मुझे अपना खुद का काम शुरू करना चाहिए। मुझे खुद पर विश्वाश था कि मैं इसे अच्छे से कर पाउंगी, क्योंकि इसमें मैं किसी पर निर्भर नहीं थी। मैं किसी Brand के लिए काम नहीं करना चाहती थी, मैं खुद को Brand बनाना चाहती थी। आज मैं जवाहर नगर श्रीनगर में "हरिबा मेकओवर" नाम से अपना ब्यूटी स्टूडियो चलाती हूं।

PunjabKesari

नई पीढ़ी को दिया ये संदेश 

हरिबा ने कश्मीर की लड़कियों के नाम संदेश देते हुए कहा कि- आप जो कुछ भी करना चाहते हैं वह करें चाहे वह "छोटा हो या बड़ा" माता-पिता को बच्चों को कुछ भी करने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए। कश्मीर के समाज के लिए मेरा संदेश है कि वे आधुनिकीकरण, समय को, मानसिक रूप से समझें और "नई पीढ़ी" को मौका दें और उन्हें समझें।
 

Related News